Tonk / मशहूर शायर इमरान प्रतापगढ़ी ने टोंक धरने में केन्द्र सरकार को लिया आड़े हाथ, प्रतापगढ़ी को सुनने पहचें हजारों की संख्या में लोग

CAA, NRC व NPR के विरोध में धरनें में अपना समर्थन देने शायर इमरान प्रतापगढ़ी पहुचें

सीएए, एनआरसी एवं एनपीआर के काले कानूनों के विरोध में मोतीबाग में चल रहे धरने को संबोधित करते अंतर्राष्ट्रीय शायर इमरान प्रतापगढ़ी।

Tonk News : टोंक मोतीबाग क्षेत्र में चल रहे सीएए, एनआरसी व एनपीआर के विरोध में धरनें में अपना समर्थन देने शायर इमरान प्रतापगढ़ी (Imran Pratapgarhi) पहुचें। जहां उन्होने मोदी सरकार व अमीत शाह पर हमला बौलते हुए कहा कि इमरान ने कहा कि पिछले 60-70 दिनों से में अपने परिवार के साथ नहीं रहा हूं।  मेरा देश भर के अलग-अलग भागों में जाकर लोगों से मिल रहा हूं, मेरी मां एवं बहनों से मिलकर मुझे मेरे आंदोलन को चलाने के लिए हिम्मत और हौसला मिलता है ।

टोंक की जमीन पर भाषण देना या मुशायरा सुनाने में नहीं आया, बल्कि मैं सलाम करने आया हूं उन मां और बहनों को जिन्होंने पिछले 30 दिनों से मोती बाग को शाहीन बाग बना रखा है, आप लोगों की हिम्मत तो चाहत को देखकर मुझे यकीन के साथ यह कहना पड़ रहा है कि सरकार नागरिकता की काले कानूनों को वापस लेनी ही होगी।

इमरान ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा राजस्थान में सीएए नहीं कराने के फैसले का स्वागत किया।  मेरा मसकन मेरी जन्नत को सलामत रखना,  मेरे मौला मेरे भारत को सलामत रखना। उन्होंने उत्तर प्रदेश का जिक्र करते हुए कहा कि अकेले यूपी में 19 जाने कुर्बान हुई है उसके बावजूद प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के सामने अपना सीना खोल रहा है।

प्रदर्शन कर रहे लोगों से गर्म कंबल पुलिस ने छीन लिए । उन्होने अपने शायराना अंदाज में केन्द्र सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि

मोहब्बत भाईचारे के दीवाने दिन ही लौटा दो,  वह सस्ती दाल सब्जी के सुहाने दिन ही लौटा दो, अदानी अंबानी मुबारक हो तुम्हें, हमें ऐसा करो साहिब पुराने दिन ही लौटा दो।

इससे पूर्व आए हुए अतिथियों का स्वागत पूर्व उपसभापति सलीमुद्दीन खान, मजहर आलम, रईस अहमद, जाकिर सना, सरताज अहमद ,वक्फ बोर्ड के सदर मतीन मिर्जा, निजामुद्दीन आदि ने किया।