PM crop insurance scheme
टोंक राजस्थान

Tonk : उद्यानिकी गतिविधियों में पात्र कृषकों का चयन लॉटरी के माध्यम से होगा

टोंक। उद्यान विभाग द्वारा वित्तीय वर्ष 2022-23 में संचालित योजनाओं के तहत कई गतिविधियों पॉली हाउस, शेडनेस, मल्च, लॉ-टनल, कम लागत के प्याज भण्डारण संरचना, पैक हाउस, सामुदायिक जल स्रोत आदि में लाभ लेने के लिए कृषकों का चयन गत वर्ष की भांति लॉटरी के माध्यम से किया जाएगा।

सहायक निदेशक उद्यान टोंक ने बताया कि इसके लिए इच्छुक कृषक विभागीय योजना का लाभ लेना चाहता है वह ई-मित्र/राज किसान साथी पोर्टल के माध्यम से 15 मई 2022 तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते है।

आवेदन के लिए भू-स्वामित्व दस्तावेज, जन आधार कार्ड, आधार कार्ड, बैंक का विवरण आदि के साथ ऑनलाइन आवेदन प्रस्तुत किया जा सकेगा। इन कार्यक्रमों के लिए कृषकों द्वारा 1 सितम्बर 2021 से 15 मई 2022 तक ऑनलाइन आवेदन करने वाले कृषकों को सम्मिलित करते हुए लॉटरी का सम्पादन किया जाएगा।

ऑनलाइन पशुपालक प्रशिक्षण शिविर का आयोजन

टोंक। राजस्थान पशु चिकित्सा और पशु विज्ञान विश्वविद्यालय,बीकानेर की ओर से संचालित पशु विज्ञान केंद्र,अविकानगर,टोंक द्वारा मंगलवार को “हरे चारे के रूप में पशुओं के लिए अजोला का महत्व” विषय पर ऑनलाइन पशुपालक प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया।
शिविर में डॉ.नरेंद्र चौधरी ने बताया कि पशुपालक अजोला का उपयोग कर पशुपालन की लागत को कम कर सकते हैं।

अजोला दुग्ध व मांस उत्पादक पशुओं तथा मुर्गियों के लिए प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है। जिसमें 25 प्रतिशत प्रोटीन व विटामिन ए, विटामिन बी 12 के साथ-साथ विकासवर्धक सहायक तत्व जैसे कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटेशियम, आयरन भरपूर मात्रा में उपस्थित होते हैं। दुधारू पशुओं को प्रतिदिन 2 किलो अजोला खिलाकर 15 प्रतिशत दुग्ध उत्पादन बढ़ाया जा सकता है। मुर्गियों को 20 ग्राम अजोला प्रतिदिन खिलाने से शारीरिक भार व अंडा उत्पादन में वृद्धि होती है। अजोला की उत्पादन लागत एक रुपए प्रति किलोग्राम से कम आती है। डॉ.रावताराम भाकर व डॉ. राजेश सैनी ने अजोला इकाई स्थापित करने के बारे में जानकारी दी। शिविर में 29 पशुपालकों ने भागीदारी निभाई।

व्यापारी ई-तुलामान सॉफ्टवेयर पर ऑनलाइन आवेदन करें

टोंक। बांट एवं माप के मुद्राकांन की सम्पूर्ण प्रक्रिया ई-तुलामान सॉफ्टवेयर पर ऑनलाइन हो चुकी है। इसके लिए स्वयं की एसएसओ आईडी बनाकर ई-तुलामान सॉफ्टवेयर पर ऑनलाइन फीस जमा कराने के पश्चात विधिक माप अधिकारी द्वारा बांट-माप के मुद्राकांन की कार्यवाही की जाएगी।
विधिक माप अधिकारी टोंक प्रतीक सोनी ने बताया कि समस्त व्यापारी 15 दिन के अन्दर ई-तुलामान सॉफ्टवेयर पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। इसके पश्चात विधिक माप अधिकारी द्वारा नियमानुसार विधिक कार्यवाही की जाएगी।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/