टोंक राजस्थान

TONK BJP की तिरंगा रैली गुटबाज़ी की भेंट चढ़ी,, तिरंगा रैली में दिखा दोनों गुटों का शक्ति प्रदर्शन, 

टोंक (फ़िरोज़ उस्मानी)। टोंक में आज भाजपा की तिरंगा रैली भी भाजपा नेताओं की आपसी गुटबाज़ी की भेंट चढ़ कर रह गई,, भाजपा के दो गुटों के द्वारा निकाली गई तिरंगा रैली कम -शक्ति प्रदर्शन ज़्यादा दिखाई दी,

तिरंगा रैली दो अलग अलग धड़ो के नेताओं के नेतृत्व में अलग अलग समय पर निकाली गई, एक रैली का आयोजन भाजपा जिलाध्यक्ष राजेन्द्र पराणा के नेतृत्व में हुआ तो दूसरी रैली पूर्व टोंक विधायक अजीत सिंह मेहता के नेतृत्व में निकाली गई,, दो अलग अलग गुटों की निकली भाजपा की तिरंगा रैली लोगों में चर्चा का विषय बनी रही, दोनों ही धड़ो के नेताओं ने कार्यकर्ताओं की भीड़ जुटाने में कोई कसर नही छोड़ी,,

 

 अजीत मेहता रैली में दिखा जोश,,

 

 दोनों ही रैलियों में कार्यकर्ताओं का हुजूम दिखाई दिया,हालांकि अजीत मेहता की रैली में कार्यकर्ताओं की भीड़ अधिक व जोश दिखाई दिया, मेहता पैदल ही रैली का नेतृत्व करते दिखाई दिए,,

वंदे मातरम् व भारत माता की जय के नारों की गूंज

भाजपा जिलाध्यक्ष राजेन्द्र पराणा की तिरंगा रैली हायर सेकेंड्री खेल मैदान से शुरू हुई,, और कामधेनु सर्किल पर समापन हुआ, जिसमे टोंक सवाई माधोपुर सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया, पूर्व नगर परिषद चैयरमेन लक्ष्मी जैन, सहित नेता मौजूद रहे,, वहीं दूसरी रैली भाजपा के पूर्व टोंक विधायक अजीत सिंह मेहता के नेतृत्व में कामधेनु सर्किल से शुरू हुई,, रैली में कार्यकर्ताओं ने 

 दोपहिया वाहनों पर हाथों में तिरंगा लेकर भारत माता की जय वंदे मातरम नारे लगाते हुए शहर के विभिन्न चौराहों से गुजरे। दोनों ही रैलियों में पुलिस को खासी मशक्कत करनी पड़ी।।

Firoz Usmani
Firoz Usmani Tonk : परिचय- पत्रकारिता के क्षेत्र में पिछले 15 वर्षो से संवाददाता के रूप में कार्यरत हुंॅ, 9 साल से राजस्थान पत्रिका ग्रुप के सांयकालीन संस्करण (न्यूज़ टुडे) में जिला संवाददाता के रूप से कार्य कर रहा हंू। राजस्थान पत्रिका न्यूज़ चैनल में भी अपनी सेवाएं देता रहा हूं। एवन न्यूज चैनल में भी संवाददाता के रूप में कार्य किया है। अपने पिता स्व. श्री मुश्ताक उस्मानी के सानिध्य में पत्रकारिता की क्षीणता के गुण सीखें। मेरे पिता स्व.श्री मुश्ताक उस्मानी ने भी 40 वर्षो तक पत्रकारिता के क्षैत्र में कार्य किया है। देश के कई बड़े न्यूज़ पेपर से जुड़े रहे। 10 वर्ष दैनिक भास्कर में ब्यूरों चीफ रहें।