Crime News-अपहरण के आरोपी ने बून्दी से खरीदी थी पिस्टल, युुवक के अगुवा करने का मामला

युवक के अपहरण व दुष्कर्म के मामले में गिरफ्तार हुए दोनों आरोपियों को हनुमाननगर थाना पुलिस ने न्यायालय में पेश किया। जहां से मुख्य आरोपी पर्वतसिंह मीणा को तीन दिन के पुलिस रिमाण्ड पर लिया है। जबकि सहआरोपी आशीष को न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया है। 

मुख्य आरोपी पुलिस रिमाण्ड पर, जबकि दूसरे को भेजा जेल

देवली।

युवक के अपहरण व दुष्कर्म के मामले में गिरफ्तार हुए दोनों आरोपियों को हनुमाननगर थाना पुलिस ने न्यायालय में पेश किया। जहां से मुख्य आरोपी पर्वतसिंह मीणा को तीन दिन के पुलिस रिमाण्ड पर लिया है। जबकि सहआरोपी आशीष को न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया है।

                पुलिस ने बताया कि आरोपी पर्वत ने अपहरण के दौरान काम में ली पिस्टल बून्दी जिले के केशोरायपाटन से खरीदना बताया है। पिस्टल 9 एमएम की है, जिसके साथ चार जिंदा कारतूस भी बरामद किए गए। पुलिसकर्मियों ने बताया कि आरोपी पर्वतसिंह ने पिस्टल की नोक पर ऊंचा निवासी अपने प्रेमिका के भाई का अपहरण किया था।

नशें में चला सकता था गोली

सूत्रों के अनुसार जिस समय पुलिस ने अपहरण के मुख्य आरोपी पर्वत सिंह मीणा को दबोचा, उस समय उसने बताया कि उसने शराब पी रखी है। इसके अलावा पर्वत सिंह के पास पिस्टल व जिंदा कारतूस थे। नशे के चलते मुख्य आरोपी पर प्रेमिका को हांसिल करने की धुन सवार थी। इस स्थिति में पुलिस को डर था, कि कहीं आरोपी पुलिस को देखकर गोली न चला दे। सूत्रों ने बताया कि आरोपी पर्वत सिंह ने अपनी पे्रमिका को सरोली मोड़ के स्थान पर छाण चौराहे पर उतरने को कहा। इधर पुलिस भी युवती के साथ कार से जा रही थी।

              पुलिस ने सरोली व छाण के बीच लोक परिवहन की बस रोककर युवती को बिठाया। साथ ही उसे हिदायत दी कि उसे आरोपी के पास नहीं जाना है। उधर पुलिस के जवान सादा वस्त्रों में पहले से ही कार से छाण चौराहे पर जाकर एक होटल पर बैठ गए। बाद में जब छाण चौराहे पर युवती उतरी तो, आरोपी ने कार से उसे पास आने का इशारा किया। लेकिन युवती नहीं गई। बाद में मुख्य आरोपी जैसे ही कार लेकर युवती के पास आया, तो पहले से छिपी पुलिस ने उसे दबोच लिया।