The discovery of unique tradition makes children to celebrate Indradev
टोंक राजस्थान

अनूठी परम्परा का निर्वहन इंद्रदेव को प्रसन्न करने के लिए बालभोज

बारिश के लिए बालभोज

 टोंक 
यूं तो बारिश व बाढ के कारण देश का ज्यादातर हिस्सा समस्याओं से जूझ रहा है, लेकिन देश एक प्रदेश ऐसा भी है जहां बारिश मेहमान की तरह बाट जोह रहे हैं, बारिश अच्छी हो इसके लिए बालभोज करवा रहे हैं राजस्थान वैसे तो कम बारिश के लिए जाना जाता है लेकिन इस सूबे के कुछ जिलों अभी तक औसत बारिश भी नहीं हुई ।
देखा जाय तो बारिश की कामना को लेकर लोग पूजा हवन करते है। लेकिन सूबे के टोंक जिले के राजमहल गांव के लोग इंद्रदेव को प्रसन्न करने के लिए बच्चों को भोजन करवाते हैं, इस अनूठी परम्परा का निर्वहन ग्रामीण पिछले 15 वर्षों से कर रहे है ।
गांव के लोग सामूहिक भोज का आयोजन करते हैं ओर बालभोज करवाते हैं, ग्रामीणों की माने तो कई सालों पहले गांव में बारिश नहीं से गांव सूखे की चपेट में आ गया था ।  जिससे पास ही में बह रही बनास का पानी सूख गया था ओर गांव के पास स्थित बीसलपुर डेम में भी पानी नहीं बचा था, घोर अकाल की ये हालात होने बाद से ग्रामीणों बालभोज की परम्परा प्रारम्भ की थी  जो आज भी अपना साकार रूप लिए हुऐ है।
liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *