जयपुर राजस्थान

मंत्री महेश जोशी के बेटे पर दर्ज मामले पर पीसीसी चीफ का बयान, जांच में दोषी पाया गया तो कड़ी कार्रवाई करेंगे

जयपुर। कैबिनेट मंत्री महेश जोशी के पुत्र रोहित जोशी पर दुष्कर्म के दर्ज मामले को लेकर प्रदेश की सियासत भी गरमाने लगी है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बाद अब प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा का भी बड़ा बयान इस मामले में सामने आया है। पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि एफ आई आर दर्ज होने से कोई भी दोषी नहीं हो जाता है। पीसीसी चीफ ने आज प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि मेरा बेटा हो या मंत्री का बेटा हो जो भी जांच में दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे। उन्होंने कहा कि इस मामले में जांच अधिकारी निष्पक्ष तरीके से जांच करेगा और जांच के बाद वह जो भी अपनी रिपोर्ट देगा उस आधार पर कार्यवाही होगी।

हम बीजेपी की तरह नहीं करते दोषियों का बचाव

प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष ने कहा कि हम बीजेपी की तरह नहीं है जो अपने नेताओं का बचाव करें।उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री दिल्ली के बेटे ने किसानों को कुचल कर मार दिया लेकिन बीजेपी ने तो मंत्री टेनीको मंत्रिमंडल से हटाया और ना ही बेटे पर कोई कार्रवाई की। बेटे ने भी कोर्ट में गलत सबूत पेश करके जमानत ले ली लेकिन कोर्ट ने उसे वापस जेल भेज दिया।उसके बावजूद बीजेपी ने तो मंत्री पर कार्रवाई की और न ही उसके बेटे पर कार्रवाई की।

गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि इस मामले में जांच अधिकारी निष्पक्ष जांच करेगा और अगर जांच में मंत्री का बेटा दोषी पाया जाता है तो कड़ी कार्रवाई करेंगे।गौरतलब है कि कैबिनेट मंत्री महेश जोशी के पुत्र रोहित जोशी प्रदेश कांग्रेस के सदस्य भी हैं, ऐसे में पार्टी की ओर से उन पर क्या कार्रवाई की जाएगी इसे लेकर भी कांग्रेस की सियासी गलियारों में चर्चाएं होने लगी है। बता दें कि जयपुर की युवती के द्वारा कैबिनेट मंत्री महेश जोशी के पुत्र और पीसीसी मेंबर रोहित जोशी के खिलाफ दुष्कर्म सहित अन्य धाराओं में दिल्ली के सदर थाने का मुकदमा दर्ज करवाया है।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/