border
राजस्थान श्री गंगानगर

राजस्थान में भारत- पाक सीमा पर धमाके, घरों के दरवाजे तक हिले, लोग डर कर आए

श्रीगंगानगर/ श्रीगंगानगर सेक्टर में भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा के उस पार पाकिस्तान के शहर मियां चन्नू में बुधवार रात पाकिस्तान एयरफोर्स का एक लड़ाकू जहाज क्रेश हो गया। लड़ाकू जहाज के क्रेश होने पर जोरदार धमाका हुआ, जिसकी आवाज अंतरराष्ट्रीय सीमा के इस पार श्रीगंगानगर जिले के कस्बे गजसिंहपुर और इसके आसपास दूर-दूर तक सुनाई दी । यही नही इस धमाके से घरों के दरवाजे तक हिल गए और लोग डर कर घरो के बाहर निकल आए ।

[शिक्षा विभाग– SDM अंशुल अमेरिया ने स्कूल मे मिड डे मील का किया था निरीक्षण, खाया खाना]

श्रीकरणपुर के गांव शेखसरपाल में भी धमाके की आवाज सुनाई दी।खुफिया सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के जिले खानेवाल के तहसील मुख्यालय मियां चन्नू की मन्नूवाल मिल के पास बसकू होटल के पास यह विमान गिरा। इस हादसे में कितने लोग मारे गए इसकी पुष्टि नहीं हो पाई।

[शिक्षा विभाग – बोर्ड परीक्षाओं को छोड अन्य कक्षाओं की परीक्षाएं कब होगी तय, कक्षा 1 से 4 तक नही होगी परीक्षा]

लड़ाकू जहाज के क्रेश होने का धमाका इतना जोरदार था कि गजसिंहपुर में घरों के दरवाजे हिल गए और कई देर कंपन हुआ। धमाके की आवाज सुनते ही लोग घरों से बाहर निकल आए और एक-दूसरे से इसके बारे में पूछताछ करने लगे। पुलिस ने भारतीय सीमा में धमाका होन से इनकार किया ।

कुछ दिनो से हो रहे थे धमाके

सीमा क्षेत्र में पिछले कई दिन से धमाकों की आवाज सुनाई दे रही थी। सुरक्षा एवं खुफिया एजेंसियाें ने धमाकों के बारे में अनभिज्ञता जाहिर की है। अब पाकिस्तान सीमा में वहां की एयरफोर्स का लड़ाकू विमान क्रेश होने के बाद साफ हो गया कि पाकिस्तान एयरफोर्स के लड़ाकू विमान भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास लगातार उड़ान भर रहे हैं और धमाके की आवाज इन्हीं विमानों की सुपर सोनिक बूम की है ।

 

सुपर सोनिक बूम या सोनिक बूम किसी भी फाइटर विमान से पैदा होती है जो ध्वनि की गति से तेज चलती है। सुपर सोनिक का मतलब होता है ध्वनि से तेज। सोनिक बूम एक तरह की तरंगें होती हैं। उस समय विमान 1238 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से चल रहा होता है, जिससे इतनी तेज आवाज पैदा होती है कि जमीन पर बम विस्फोट या बादलों की गड़गड़ाहट जैसी आवाज आती है।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम