एसआईटी की बड़ी कार्रवाई अवैध बजरी खनन

illegal gravel mining

Tonk News : सुप्रीम कोर्ट की रोक के बावजूद चल रहे अवैध बजरी खनन(illegal gravel mining), परिवहन व भंडारण को लेकर पीपलू उपखंड अधिकारी डॉ. लक्ष्मीनारायण बुनकर (Piplu Subdivision Officer, Dr. Lakshminarayan Bunkar) के नेतृत्व में एसआईटी टीम ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया हैं। एसआईटी(SIT) टीम ने गुढ़ा रामदास स्थित माशी नदी (Mashi Nadi) में कार्रवाई करते अवैध बजरी खनन, परिवहन करते हुए 13 ट्रैक्टर-ट्रॉली, 3 एलएनटी, 1 मोटरसाइकिल पकड़ी हैं।

इस दौरान मौके से 4 व्यक्ति को भी पकड़ा हैं, जिनसे पूछताछ की जा रही हैं तथा नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान 2 टै्रक्टर ट्रॉलियों को चालक भगाकर ले जाने में सफल रहे। वहीं सोहेला-डिग्गी मार्ग पर झिराना के यहां बजरी से भरे 3 ट्रैक्टर-ट्रॉली तथा झिराना से नानेर मार्ग पर 1 डंपर जप्त किया हैं। इस दौरान अवैध बजरी रैकी मामले में एक कार भी जप्त की हैं। कार्रवाई में तहसीलदार कैलाशचंद्र नायक, बालकिशन शर्मा रीडर, सीताराम मीणा टीआरए, भागचंद चौधरी जेआरए सहित खनिज व आरटीओ विभाग आदि मौजूद थे।

उपखंड अधिकारी लक्ष्मीनारायण बुनकर ने कहा कि क्षेत्र में धड़ल्ले से अवैध बजरी खनन, परिवहन, भंडारण की शिकायतें प्राप्त हो रही हैं। इस पर लगातार वह नजर बनाए हुए हैं तथा एसआईटी टीम के साथ मिलकर कार्रवाई को अंजाम दे रहे हैं।

उन्होंने अवैध बजरी, परिवहन, भंडारण करने वाले लोगों को चेतावनी दी हैं कि वह नियमों की अवहेलना करना बंद करें अन्यथा कार्रवाई के लिए तैयार रहे। सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की पालना में अवैध बजरी परिवहन, खनन, भंडारण पर कार्रवाई को लेकर एसआईटी की टीमें गठित की गई हैं लेकिन खनिज विभाग, पविहन विभाग कार्रवाई के बाद मौके पर पहुंचता हैं।

इससे पहले उपखंड अधिकारी के नेतृत्व में तहसीलदार, पुलिस जाप्ते के साथ मौके पर कार्रवाई करते हैं। उपखंड अधिकारी ने कहा अवैध बजरी खनन माफियाओं पर कार्रवाई के लिए जाप्ते की आवश्यकता हैं लेकिन जाप्ते की कमी के चलते परेशानी होती हैं।