सीकर जिले की कांग्रेस-भाजपा व माकपा राजनीति में धीरे धीरे बनते नये गठजोड से आगे चलकर काफी कुछ बदलने की सम्भावना नजर आने लगी है

Sikar News / अशफाक कायमखानी।जिले मे तीसरी ताकत के रुप मे मोजूद राजनीतिक दल माकपा के दिग्गज नेता व धोद व दांतारामगढ़ से विधायक रहे संघर्ष के प्रतीक कामरेड अमरा राम ने चाहे स्वयं ने संकेत नही दिये लेकिन अल्पसंख्यक व किसान मतदाता उन्हे आगामी विधानसभा चुनाव मे लक्ष्मनगढ से उम्मीदवार के तौर पर देख …

सीकर जिले की कांग्रेस-भाजपा व माकपा राजनीति में धीरे धीरे बनते नये गठजोड से आगे चलकर काफी कुछ बदलने की सम्भावना नजर आने लगी है Read More »

July 13, 2021 12:38 pm

Sikar News / अशफाक कायमखानी।जिले मे तीसरी ताकत के रुप मे मोजूद राजनीतिक दल माकपा के दिग्गज नेता व धोद व दांतारामगढ़ से विधायक रहे संघर्ष के प्रतीक कामरेड अमरा राम ने चाहे स्वयं ने संकेत नही दिये लेकिन अल्पसंख्यक व किसान मतदाता उन्हे आगामी विधानसभा चुनाव मे लक्ष्मनगढ से उम्मीदवार के तौर पर देख कर चल रहे है।

वेसे भी माना जाता है कि माकपा उम्मीदवार जिले मे तब ही विधानसभा चुनाव जीत पाते है जब कुछ हद तक उन्हें कांग्रेस के कुछ नेता दिल खोलकर मत दिलवाने मे मदद करे।

माकपा के दुसरे पूर्व विधायक कामरेड पेमाराम का आरक्षित सीट धोद से चुनाव लड़ना ही तय है। बाकी जगह अपने मत अपने निशान पर डलवाने के लिये उम्मीदवार मैदान मे उतारे जाते रहे है।

वर्तमान समय मे पार्टी स्तर पर कामरेड अमरा राम द्वारा किये जाने वाले निर्णय पर ही सीकर जिले मे संगठन की मोहर लगती है।

पूर्व केन्द्रीय मंत्री तत्तकालीन समय मे कांग्रेस जोईन करने वाले नेता सुभाष महरिया ने 2018 के विधानसभा चुनाव मे जिले के सभी कांग्रेस उम्मीदवारों को जीताने मे जी-जान लगाकर मेहनत करके जिले से भाजपा व माकपा का सफाया करने मे सफलता पाने व आगे चलकर 2023 के होने वाले आम विधानसभा चुनाव मे रहने वाली उनकी भूमिका के मुताबिक उनके प्रभाव का वर्तमान समय मे आंकलन करना अभी मुश्किल है।

यह समय आने पर ही उनकी चुप्पी टूटने के साथ ही पता चल पायेगा। कांग्रेस के सभी सात विधायकों का अपने अपने क्षेत्र मे अपना अपना व पारिवारिक पृष्ठभूमि के कारण प्रभाव व अस्तित्व है।

लेकिन उन सातो कांग्रेस विधायकों मे समन्वय की टूटती डोर की झलक जिला परिषद चुनाव मे साफ देखने को मिली। जैसेतैसे करके जिला प्रमुख का उम्मीदवार तो कांग्रेस ने खड़ा कर दिया था।

पर वो सब मिलकर उप जिलाप्रमुख के उम्मीदवार के नाम पर सहमत होकर उसको मैदान मे उतार तक नही पाये। मंत्री डोटासरा व निर्दलीय विधायक महादेव सिंह की जारी युगलबंदी मे भी पीछले महीने से दरार नजर आने लगी है।

वही अभी तक विधायक हाकम अली तो शिक्षा मंत्री डोटासरा के साथ नजर आ रहे है। पर इस मित्रता के आगे विधानसभा चुनाव तक बने रहने पर शंका की लकीर खिंचती नजर आने लगी है।

भाजपा मे जिले मे पूर्व विधायक झाबरसिंह खर्रा को छोड़कर अधीकांश नेताओ पर पूर्व विधायक प्रैमसिंह बाजोर का प्रभाव है। जिलाप्रमुख भी बाजोर ने अपनी पूत्रवधु को बनवा कर अपनी ताकत व प्रभाव का अहसास करवा दिया है।

लक्ष्मनगढ प्रधान चुनाव मे भाजपा जीती हुई बाजी अपने जिले के दिग्गज नेताओं की उदासीनता व आपसी समनव्यता की कमी के कारण हार गई।

कुल मिलाकर यह है कि आगामी विधानसभा चुनाव आते आते कांग्रेस-भाजपा व माकपा की राजनीति व नेतृत्व मे अनेक बदलाव नजर आयेगे।

वर्तमान समय मे अंदर ही अंदर काफी कुछ सांठगांठ व बनते नये गठजोड एवं एक दुसरे को मात देने की नेताओं की मंशा होने के बावजूद जनता को वर्तमान मे नजर नही आ रहा है वो सब धीरे धीरे जमीन पर नजर आने लगेगा।

वही कामरेड अमरा राम अगर लक्ष्मनगढ से 2023 का विधानसभा चुनाव लड़ते है तो वहां चुनावी मुकाबला जरूर दिलचस्प होगा।

Prev Post

 दिल्ली में गिरफ्तार फर्जी सीबीआई अधिकारी,हावड़ा लाया गया

Next Post

गेल की तूफानी अर्धशतकीय पारी से वेस्टइंडीज ने  ऑस्ट्रेलिया को 6 विकेट से हराया

Related Post

Latest News

बजरी ट्रक ऑपरेटरों यूनियन की सोहेला मिर्च मण्डी मे बैठक का आयोजन 
Rajasthan : कांग्रेस विधायक दल की बैठक आज, आलाकमान पर छोड़ा जा सकता है मुख्यमंत्री चयन का फैसला
कांग्रेस में 'एक व्यक्ति एक पद' का सिद्धांत फॉर्मूला, एक दर्जन नेताओं को देना पड़ेगा इस्तीफा

Trending News

भीलवाड़ा में गुटखा व्यापारी का दिनदहाडे अपहरण, 5 करोड़ फिरौती मांगी, 3 हिरासत में 
ब्रश, स्पंज और उंगलियों से लिक्विड फाउंडेशन कैसे लगाएं
आपके जीवन में स्वस्थ कितना जरुरी हैं और आहार क्या है, फायदे और डाइट चार्ट
बोलेरो को ट्रेलर ने मारी टक्कर तीन की मौत दो बच्चों सहित पांच गम्भीर घायल, भीलवाड़ा रैफर

Top News

बजरी ट्रक ऑपरेटरों यूनियन की सोहेला मिर्च मण्डी मे बैठक का आयोजन 
Rajasthan : कांग्रेस विधायक दल की बैठक आज, आलाकमान पर छोड़ा जा सकता है मुख्यमंत्री चयन का फैसला
भीलवाड़ा में गुटखा व्यापारी का दिनदहाडे अपहरण, 5 करोड़ फिरौती मांगी, 3 हिरासत में 
उपराष्ट्रपति कल राजस्थान के बीकानेर दौरे पर
नवरात्रा 26 से, घट स्थापना का मुहूर्त कब-कब और कैसे करें जानें 
PFI को खाड़ी देशों से मदद, Ed ने 120 करोड़ रुपए किए जब्त,PM पर हमले की थी साजिश
अंकिता हत्याकांड - भाजपा के नेता व पूर्व मंत्री के बेटे के रिसोर्ट पर चला बुलडोजर नेता पार्टी से निलंबित 
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन आज से शुरू, 30 सितम्बर है आखिरी तारीख
कांग्रेस में 'एक व्यक्ति एक पद' का सिद्धांत फॉर्मूला, एक दर्जन नेताओं को देना पड़ेगा इस्तीफा
मुख्यमंत्री कौन होगा काउंट डाउन शुरू : सचिन पायलट सहित ये प्रमुख नाम