अवैध बजरी खनन पर पुलिस द्वारा बड़ी कार्यवाही

17 ट्रोली अवैध बजरी पकड़ी
सवाई माधोपुर । उपखंड के मलारना डूंगर थानाक्षेत्र में अवैध बजरी का कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा और सुप्रीम कोर्ट के आदेशों को सरेराह पुलिस की नाक के नीचे धज्जियां उड़ाई जा रही हैं ऐसे मे सुप्रीम कोर्ट की रोक के बावजूद भी बजरी माफिया देखो बनास नदी से करोड़ों रुपए की बजरी का अवैध कारोबार कर रहा है ऐसे में बजरी माफिया के खिलाफ किसी भी प्रकार की पुख्ता कार्रवाई नहीं होने से जिले की पुलिस भी संदेह के घेरे में आती है इसी के चलते गत दिनों मीडिया द्वारा देर रात बजरी ट्रॉलियों की लगातार चहल-पहल देखने को मिली और उसके बाद मीडिया का कैमरा देख मोके से वसूली कर रहे पुलिसकर्मी कैमरे के सामने आते ही इधर-उधर दौड़ने लगे जिसके बाद पुलिस अधीक्षक मामन सिंह ने मोबाइल हाइवे टीम के 5 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया था लेकिन बजरी माफिया के हौसले तब भी इतने बुलंद है कि आज भूखा रोड से करीब 17 ट्रोली अवैध बजरी रूप से ले जाई जा रही थी ।

जिसे मलारना डूंगर थाना प्रभारी विजेंदर सिंह द्वारा कार्रवाई करते हुए रोका और सभी को अपनी कस्टडी में लिया जिन पर खनन विभाग द्वारा अवैध रूप से खनन करने का चालान किया जाएगा ऐसे में जहां कार्रवाई नहीं होने से सरकार को करोड़ों रुपए के रेवेन्यू की चपत लग रही थी वह आज इस कार्रवाई के बाद सरकार को एक अच्छा रेवेन्यू देने में कारगर साबित हुई ।इतना ही नहीं यहां हो रहे बजरी के अवैध खनन से आसपास के क्षेत्र में आए दिन सड़क दुर्घटनाएं भी होती हैं जिसके चलते कई सड़क हादसे होने से कई लोगों की जान अब तक गई ऐसे में जिला प्रशासन का सख्त कार्रवाई करना आम जनता के लिए कारगर साबित होगा लेकिन कहीं ना कहीं जिस प्रकार बजरी की सप्लाई अवैध रूप से हो रही है इसमें कहीं ना कहीं यह साबित होता नजर आ रहा है कि पुलिस की मिलीभगत के चलते यहां बजरी माफिया के हौसले बुलंद हैं ।