कोर्ट में होता रहा इंतजार, नहीं आए सलमान 

बहुचर्चित काला हिरण शिकार मामले में जोधपुर बहुचर्चित काला हिरण शिकार मामले में मिली पांच साल की सजा के खिलाफ अपील करने के बाद गुरुवार को एक बार फिर सलमान खान कोर्ट में पेश नहीं हुए। उनके वकील ने एक बार फिर हाजिरी माफी का आवेदन दिया। इस पर कोर्ट ने नाराजगी जताते हुए कहा …

कोर्ट में होता रहा इंतजार, नहीं आए सलमान  Read More »

July 5, 2019 9:47 am

बहुचर्चित काला हिरण शिकार मामले में

जोधपुर

बहुचर्चित काला हिरण शिकार मामले में मिली पांच साल की सजा के खिलाफ अपील करने के बाद गुरुवार को एक बार फिर सलमान खान कोर्ट में पेश नहीं हुए। उनके वकील ने एक बार फिर हाजिरी माफी का आवेदन दिया। इस पर कोर्ट ने नाराजगी जताते हुए कहा कि अगर अगली पेशी पर सलमान कोर्ट में उपस्थित नहीं हुए तो उनकी जमानत खारिज कर दी जाएगी।

सुनवाई 27 सितंबर को होगी

जिला जज (ग्रामीण) चंद्रकुमार सोनगरा की अदालत ने कहा कि यदि सलमान अगली पेशी पर कोर्ट में हाजिर नहीं हुए तो उनकी जमानत खारिज की जा सकती है। इसके बाद सलमान के वकील ने किसी से बात नहीं की और सीधे बाहर निकल गए। बता दे कि पिछले साल 5 अप्रैल को जोधपुर की सीजेएम ग्रामीण कोर्ट ने काला हिरण शिकार प्रकरण में सलमान को दोषी करार देते हुए पांच साल की सजा सुनाई थी। सलमान की तरफ से इस सजा के खिलाफ जोधपुर की जिला एवं सत्र अदालत में अपील की गई थी। सलमान की अपील पर 7 मई,2018 को सेशन कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई थी।

सलमान कोर्ट में व्यक्तिगत तौर पर पेश

सुनवाई के दौरान सलमान कोर्ट में व्यक्तिगत तौर पर पेश भी हुए थे। तब सलमान पांच मिनट कोर्ट में रुके थे। इसके बाद सलमान कोर्ट में लगातार हाजिरी माफी पेश करते आए हैं। पिछली पेशी पर कोर्ट ने सलमान के वकील से कहा था कि वे लंबे समय से हाजिरी माफी ले रहे हैं। अगली पेशी पर उन्हें हाजिर रहने के लिए कहे लेकिन फिर वे पेशी पर उपस्थित नहीं हुए।

दो काले हिरणों का शिकार करने का आरोप

सलमान पर 1998 में जोधपुर के पास कांकाणी गांव में दो काले हिरणों का शिकार करने का आरोप लगा था। दो दशक पुराने इस मामले में पांच अप्रैल,2018 को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट जोधपुर जिले के पीठासीन अधिकारी देवकुमार खत्री ने सलमान को दोषी करार देते हुए 5 साल की सजा सुनाई थी। साथ ही 10 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया था। मामले में सहआरोपी अभिनेता सैफ अली खान और अभिनेत्री नीलम, सोनाली बेंद्रे और तब्बू को संदेह के लाभ देते हुए बरी कर दिया था।

Prev Post

जेल में विचाराधीन कैदी की मौत 

Next Post

रस्सी से बांधकर एटीएम ले गए बदमाश 

Related Post

Latest News

सचिन पायलट के विधायक जोड़ो अभियान को धक्का, जिन विधायकों से संपर्क किया वो सीएम के पास पहुंचे 
पटवारी 20 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों अरेस्ट
राजकुमार शर्मा को ब्रेन हेमरेज

Trending News

वसुंधरा राजे के बाद अब सतीश पूनिया ने भी की भी त्रिपुरा सुंदरी मंदिर में पूजा-अर्चना
कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा
राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी

Top News

सचिन पायलट के विधायक जोड़ो अभियान को धक्का, जिन विधायकों से संपर्क किया वो सीएम के पास पहुंचे 
टोंक शांति एवं सद्भावना समिति की बैठक आयोजित
जयपुर को मिली एबीवीपी के राष्ट्रीय अधिवेशन की मेजबानी, अमित शाह करेंगे उद्घाटन सत्र में शिरकत
विजयादशमी पर  जयपुर में 29 स्थानों पर संघ का पथ संचलन, शस्त्र पूजन व शारीरिक प्रदर्शन भी होंगे
वसुंधरा राजे के बाद अब सतीश पूनिया ने भी की भी त्रिपुरा सुंदरी मंदिर में पूजा-अर्चना
टोंक जिला स्तरीय राजीव गांधी युवा मित्र प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित%%page%% %%sep%% %%sitename%%
Upload state insurance and GPF passbook in new version of SIPF
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से सुमन, रिजवाना बानो एवं दिनेश को मिली राहत
पटवारी 20 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों अरेस्ट
राजकुमार शर्मा को ब्रेन हेमरेज