राजस्थान के कई इलाकों में बारिश,ओलावृष्टि,पश्चिमी विक्षोभ से बिगड़ा प्रदेश का मौसम

file photo

Jaipur News – राजस्थान (Rajasthan ) के उत्तरी और पश्चिमी हिस्सों में गुरुवार को बारिश(Rain) हुई। बीकानेर, श्रीगंगानगर, अलवर, नागौर जिलों के कई स्थानों पर ओले भी गिरे। बारिश, ओलावृष्टिï के बाद चली सर्द हवा ने प्रदेश के मौसम (Weather)का मिजाज ही बदल दिया। हालांकि बारिश और ओलावृष्टिï के कारण पश्चिमी बीकानेर, श्रीगंगानगर में किसानों को नुकसान उठाना पड़ा। बारिश के चलते मण्डियों में रखी फसल  भीग गई।

मौसम विभाग (weather department) के मुताबिक सुबह से ही प्रदेश में कई स्थानों पर घना कोहरा और बादल छाए रहे। बाड़मेर, बीकानेर, चूरू, श्रीगंगानगर, जोधपुर और हनुमानगढ़ क्षेत्र में तड़के से ही हल्की बारिश का दौर शुरू हो गया, जो रुक-रुक कर जारी रहा।  लाडनूं के गेनाना, रताऊ, धूड़ीला सहित कई जगहों पर बारिश के साथ ओले गिरे। वहीं अलवर, भरतपुर, सीकर, झुंझुनूं और जयपुर के कुछ क्षेत्रों के अलावा दक्षिण राजस्थान में उदयपुर में भी बारिश हुई। मौसम विभाग के मुताबिक श्रीगंगानगर में 13.3, चूरू में 5 और बीकानेर में 2.8 मिमी बारिश दर्ज की गई। बुधवार रात उदयपुर, जोधपुर, बाड़मेर, जैसलमेर के कुछ इलाकों में भी बारिश हुई। विभाग ने 24 घंटे के दौरान जयपुर, दौसा, नागौर, अजमेर, सवाईमाधोपुर, टोंक, बूंदी, करौली, चित्तौडग़ढ़ और सवाईमाधोपुर जिलों तथा  आसपास के क्षेत्रों में बरसात होने की संभावना जताई है।

उत्तर-पश्चिमी राजस्थान (Northwest Rajasthan) में हुई बारिश के बाद चली हवा ने प्रदेश को ठिठुरा दिया। शेखावाटी अंचल, जयपुर, भरतपुर, अजमेर संभाग के अधिकांश जिलों में दिनभर बादल छाए रहे। कुछ स्थानों पर तो सुबह घना कोहरा भी छाया रहा, जिससे वाहन चालकों को परेशानी हुई। हवा चलने और बादल छाने के बाद दिन के तापमान में भी गिरावट हुई, जबकि रात के तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की गई। बीकानेर में तो दिन का तापमान 9 डिग्री सैल्सियस तक, जबकि श्रीगंगानगर और चूरू में 6 डिग्री  सैल्सियस तक नीचे चला गया। श्रीगंगानगर में तो रात व दिन के तापमान में केवल 1.3 डिग्री  सैल्सियस का ही अंतर रह गया।

नागौर जिले में ओलावृष्टि (Hail in Nagaur district) से फसलों को सबसे अधिक नुकसान हुआ है। यहां ओलावृष्टि से सरसों, गेहूं, जौ, चना की फसल पूरी तरह से नष्ट हो गए। नवलगढ़ तहसील के बसावा, खिरोड़, टोंक छिलरी, झाझड़, खोजास, बारवा, मोहनवाड़ी, परसरामपुरा सहित कई इलाकों में ओले गिरने से फसल नष्ट हो गई। खेतों में फसल की जगह ओले ही ओले दिखाई देने लगे। एसडीएम मुरारीलाल शर्मा ने कृषि और रेवेन्यू विभाग के अधिकारियों को शुक्रवार को किसानों की फसल की जांच के निर्देश दे दिए है।