Rahul Gandhi's voice in the bastion of tribals today, will keep an eye on the vote bank
जयपुर राजस्थान

आदिवासियों के गढ़ में आज राहुल गांधी की हुंकार, वोट बैंक पर रहेगी नजर

जयपुर। उदयपुर में 13 से 15 मई तक हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय चिंतन शिविर के बाद आज कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी आदिवासियों के गढ़ में हुंकार भरेंगे। राहुल गांधी आज डूंगरपुर जिले के बिछीवाड़ा ग्राम पंचायत में आदिवासियों की विशाल जनसभा को संबोधित करेंगे। आयोजकों ने इस जनसभा में तकरीबन दो लाख से ज्यादा भीड़ जुटाने का दावा किया है।

इस जनसभा में राहुल गांधी के अतिरिक्त मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, प्रदेश प्रभारी अजय माकन, मंत्री महेंद्रजीत सिंह मालवीय, अर्जुन बामणिया सहित कई अन्य मंत्री भी मौजूद रहेंगे। बताया जाता है कि राहुल गांधी की इस जनसभा के जरिए प्रदेश कांग्रेस आदिवासी वोट बैंक को साधने का काम करेगी। राहुल गांधी की इस जनसभा को साल 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव से भी जोड़कर देखा जा रहा है।

इससे पहले साल 2018 में विधानसभा चुनाव से पहले भी राहुल गांधी डूंगरपुर और बांसवाड़ा में जनसभा कर चुके हैं। हालांकि बेणेश्वर धाम में आज होने वाले कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का भी कार्यक्रम प्रस्तावित था लेकिन रविवार शाम को चिंतन शिविर की समाप्ति के बाद ही कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी दिल्ली के लिए रवाना हो गई थी।

जनसभा से पहले करेंगे बेणेश्वर धाम मंदिर के दर्शन

वही जनसभा से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सुबह 10 बजे गणेश्वर धाम मंदिर पहुंचेंगे और वहां पर पूजा-अर्चना करेंगे। इसके बाद राहुल गांधी 10:30 बजे बेणेश्वर धाम में राज्य सरकार की ओर से 132 करोड़ की लागत से बनने वाले हाई लेवल पुल के शिलान्यास कार्यक्रम में भी शिरकत करेंगे। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत हाई लेवल पुल का शिलान्यास करेंगे। बताया जाता है कि शिलान्यास कार्यक्रम में भी राहुल गांधी को बुलाए जाने के पीछे वजह यही है कि आने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आदिवासी वोट बैंक पर पकड़ मजबूत बनाई जाए।

बीटीपी के बढ़ते प्रभाव से चिंतित है कांग्रेस

दरअसल प्रदेश कांग्रेस की ओर से आदिवासी अंचल के बेणेश्वर धाम के नजदीक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की जनसभा कराए जाने के पीछे एक वजह यह भी है कि प्रदेश कांग्रेस आदिवासी अंचल में भारतीय ट्राईबल पार्टी (बीटीपी)बीजेपी के बढ़ते प्रभाव से चिंतित हैं। आदिवासी अंचल में बीटीपी ने पिछले विधानसभा चुनाव में 2 सीट पर जीत दर्ज की थी और इस बार भी पूरे दमखम के साथ चुनाव मैदान में उतरने की तैयारी में है। ऐसे में कांग्रेस थिंक टैंक का मानना है कि बीटीपी का बढ़ता प्रभाव विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए परेशानी खड़ी कर सकता है। इसी के चलते मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आदिवासियों के सबसे बड़े धाम बेणेश्वर में हाई लेवल पुल के शिलान्यास कार्यक्रम के बहाने विशाल जनसभा भी रखी है, जिससे कि आदिवासी वोट बैंक को विधानसभा चुनाव के मद्देनजर साधा जा सके।

21 मई को कोटपुतली में भी राहुल गांधी की जनसभा प्रस्तावित

इधर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की 21 मई को जयपुर जिले के कोटपूतली कस्बे में भी जनसभा प्रस्तावित है, जहां राहुल गांधी कांग्रेस सेवा दल के आजादी की गौरव यात्रा के साथ साथ आमजन को भी संबोधित करेंगे। इससे पहले साल 2019 में लोकसभा चुनाव के दौरान भी राहुल गांधी ने जयपुर ग्रामीण से कांग्रेस प्रत्याशी कृष्णा पूनिया के समर्थन में कोटपूतली में जनसभा की थी।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/