Politics of intimidation and footwear starts in Rajasthan, there may be a big explosion
जयपुर राजस्थान

राजस्थान में धमकी और जूते-चप्पल की राजनीति शुरू,हो सकता बड़ा धमाका

जयपुर / पुष्कर में सोमवार को कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला की जयंती समारोह में मंत्री अशोक चांदना और शकुंतला रावत पर कथित पायलट समर्थकों की ओर से जूते और चप्पल फेंकने से भड़के मंत्री अशोक चांदना की ओर से सचिन पायलट का खुलेआम दी गई खुलेआम धमकी के बाद प्रदेश का सियासी पारा बढ़ गया है।

गहलोत-पायलट खेमे के नेताओं के बीच देर रात से ही ट्विटर वॉर चल रहा । एक वर्ग विशेष के साथ साथ पायलट समर्थक भी मंत्री अशोक चांदना पर निशाना साध रहे हैं, मंत्री अशोक चांदना की धमकी के बाद माना जा रहा है कि प्रदेश में आने वाले दिनों में कोई बड़ा राजनीतिक घटनाक्रम हो सकता है।

हालांकि अशोक चांदना की धमकी भरे ट्वीट के बाद पायलट समर्थक किसी भी विधायक ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है लेकिन इसे लेकर पायलट समर्थकों में खासा रोष है। दिलचस्प बात तो यह है कि राजस्थान में जैसे-जैसे मुख्यमंत्री का चेहरा बदलने की चर्चा चल रही हैं वैसे ही गहलोत और पायलट खेमे के नेताओं के बीच शुरू हुई बयानबाजी अब धमकी और जूता पॉलिटिक्स तक जा पहुंची है।

 सूत्रों की मानें तो जिस तरह से अब सचिन पायलट कैंप और अशोक गहलोत कैंप के नेताओं के बीच तीखी बयानबाजी हो रही है उससे साफ है कि आने वाले दिनों में कोई बड़ा सियासी धमाका प्रदेश में हो सकता है, मंत्री अशोक चांदना के धमकी भरे ट्वीट को भी उसी से जोड़कर देखा जा रहा है।

हाल ही में सचिन पायलट समर्थक कांग्रेस विधायक इंद्राज गुर्जर ने गहलोत समर्थक विधायकों के खिलाफ तीखे बयान देकर चिंगारी सुलगाने का काम किया था। इंद्राज गुर्जर ने एक जनसभा में गहलोत समर्थक माने जाने वाले मंत्री शकुंतला रावत, अशोक चांदना और विधायक जोगिंदर अवाना का नाम लिए बगैर कहा था कि कौम और समाज से गद्दारी करने वाले नेताओं को चुनावों में सबक सिखाएंगे, माना जा रहा है कि उसके बाद से ही अशोक चांदना और शकुंतला रावत पर पायलट समर्थकों ने बयानबाजी शुरू कर दी थी।

मंत्री अशोक चांदना को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बेहद करीबी माना जाता है। गहलोत सरकार पर आए सियासी संकट के दौरान भी अशोक चांदना और शकुंतला रावत मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ खड़े थे। अशोक चांदना ने कई बार ट्वीट करके भी सचिन पायलट पर पार्टी से गद्दारी करने के आरोप लगाए थे।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/