chief minister ashok gehlot
जयपुर राजनीति

गहलोत का फूटा दर्द

Jaipur News / Dainik reporter : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) ने कहा कि व्यापारियों में भाजपा (BJP) का आज इस कदर डर समाया है कि वे कांग्रेस को चंदा देने में कतराने लगे हैं,क्योंकि उन्हें भय रहता है कि कहीं उनके ईडी का छापा नहीं पड़ जाए।

व्यापारी भाजपा को पांच लाख का चंदा दे दे लेकिन किसी और दल को एक लाख भी देता है तो डर लगता है कि कहीं छापा नहीं पड़ जाए।

गहलोत शनिवार को यहां सीतापुरा में इण्डियन इंस्ट्यिूट ऑफ जैम्स एण्ड ज्वैलरी (Indian Institute of Jams and Jewelery) के नए हॉस्टल का लोकार्पण समारोह के बाद  कहा कि  कांग्रेस पार्टी को सारी फंडिंग बंद हो गई है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी का तो एकाउंट सेक्शन ही बंद हो गया है।

गहलोत ने कहा कि भाजपा सरकार ने देश में  जीएसटी ऐसे लागू किया, जैसे देश को आजादी मिल रही है। पर इसकी खामियों के चलते इसका असर केन्द्र पर तो पड़ ही रहा है, राज्यों पर भी इसका असर आ रहा है।

राजस्थान के हिस्से के स्टेट ग्रांट की राशि मिलाकर 7 हजार करोड़ रुपए केन्द्र से नहीं मिल पाए हैं, जिससे विकास कार्य बाधित हो रहे हैं। वे तथ्य जुटा रहे हैं कि ऐसा  केवल कांग्रेस शासित राज्यों के साथ तो नहीं हो रहा।

मुख्यमंत्री ने पहले तो द जेम एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल के   की सभी मांगों को ध्यान से सुना। इसके बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार काउंसिल के लिए जमीन देने को तैयार है।

पर आप लोग कंजूस हो। कम पैसों में जमीन मिले, इसके लिए भाव करते हो। भले ही अभी देश में मंदी का माहौल है, लेकिन पता चला है कि इस कारोबार में मंदी का ज्यादा असर नहीं है। इसका मतलब यहां पर सभी लोग बैठे हैं, वह सुखी लोग हैं।

देश में भय एवं हिंसा के माहौल के कारण निवेश प्रभावित हुआ है। इसके कारण देश की अर्थव्यवस्था मंदी के दौर से गुजर रही है। उद्योग-धंधे ठप पड़े हैं। अकेले ऑटो सेक्टर में 10 लाख नौकरियां चली गई हैं।

ऐसे में मंदी के इस दौर में केन्द्र सरकार का यह दायित्व है कि अर्थव्यवस्था में सुधार लाने के लिए प्रभावी कदम उठाएं।

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में असहमति का भी स्थान होता है,लेकिन आज सरकार की नीतियों एवं फैसलों पर असहमति में उठने वाली आवाज को दबाने के प्रयास हो रहे हैं।

डॉ. मनमोहन सिंह सरकार के समय पूरे विश्व में मंदी का दौर था और इसका असर भारत पर भी पड़ा लेकिन उस समय सरकार ने प्रभावी कदम उठाए और देश की अर्थव्यवस्था को मजबूती से थामे रखा।

कार्यक्रम में राज्य विधानसभा में उपमुख्य सचेतक महेन्द्र चौधरी, विधायक रफीक खान, अतिरिक्त मुख्य सचिव उद्योग सुबोध अग्रवाल, रीको के एमडी आशुतोष एटी पेडनेकर, आईआईजीजे के अध्यक्ष  राजीव जैन एवं ज्वैलर्स एसोसिएशन के पदाधिकारी उपस्थित थे।

liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.