जम्मू-कश्मीर में सरकारी कर्मचारियों को काम पर लौटने का आदेश, खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

श्रीनगर  अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू-कश्मीर को मिले विशेषाधिकारों के खत्म होने के दो दिन बाद यहां जनजीवन सामान्य होने लगा है। गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के मुख्य सचिव ने सरकारी कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से काम पर वापस लौटने का निर्देश दिया है। इसके अलावा सांबा जिले में 9 अगस्त से सभी स्कूल पहले की …

जम्मू-कश्मीर में सरकारी कर्मचारियों को काम पर लौटने का आदेश, खुलेंगे स्कूल-कॉलेज Read More »

August 9, 2019 12:52 pm

श्रीनगर 

अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू-कश्मीर को मिले विशेषाधिकारों के खत्म होने के दो दिन बाद यहां जनजीवन सामान्य होने लगा है। गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के मुख्य सचिव ने सरकारी कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से काम पर वापस लौटने का निर्देश दिया है। इसके अलावा सांबा जिले में 9 अगस्त से सभी स्कूल पहले की तरह खुलेंगे।

बुधवार को जम्मू-कश्मीर के मुख्य सचिव ने एक आदेश में कहा, ‘डिविजनल लेवल, डिस्ट्रिक्ट लेवल और श्रीनगर स्थित सिविल सेक्रटेरियट में काम करने वाले सभी कर्मचारी तत्काल प्रभाव से काम पर लौटें।’ इसके साथ ही प्रशासन को निर्देश दिए गए हैं कि ड्यूटी पर आने वाले सभी कर्मियों की सुरक्षा और कामकाज के शांतिपूर्ण माहौल को हर हाल में सुनिश्चित किया जाए।

जम्मू-कश्मीर सरकार ने एक बयान जारी कर कहा, ‘सांबा जिला प्रशासन ने फैसला लिया है कि सभी शिक्षण संस्थान, फिर चाहे वे सरकारी हों या प्राइवेट 9 अगस्त से विधिवत खुलेंगे और पहले की तरह ही वहां कामकाज होगा।

सरकार ने ऐहतियातन लिया था स्कूल-कॉलेजों को बंद करने का फैसला
बता दें कि अनुच्छेद 370 से संबंधित प्रस्ताव 5 अगस्त को राज्यसभा में पेश किए जाने से पहले ही पूरे जम्मू-कश्मीर में भारी सुरक्षाबल की तैनाती कर दी गई थी। 4 अगस्त से राज्य में इंटरनेट और स्कूल-कॉलेजों को बंद करने का आदेश दे दिया गया था। सरकार के इस फैसले से उम्मीद है कि राज्य में जनजीवन सामान्य होगा।

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने गुरुवार को प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति और आम लोगों के लिए बुनियादी सुविधाओं की व्यवस्था का जायजा लिया। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि एक बैठक में मलिक ने लोगों के जुमे की नमाज अदा करने और अगले सप्ताह ईद-उल-अजहा मनाने के लिए व्यवस्थाओं की समीक्षा की। राज्यपाल ने कहा कि कश्मीर घाटी में विभिन्न स्थानों पर मंडी स्थापित की जाएगी ताकि लोग ईद के मौके पर पशु खरीद सकें। राज्यपाल के दो सलाहकार के. विजय कुमार और के. स्कंदन के अलावा मुख्य सचिव बी.वी.आर. सुब्रह्मण्यम इस बैठक में मौजूद थे।

Prev Post

कश्मीर से आगरा जेल में शिफ्ट हुए 70 आतंकी

Next Post

कश्मीर पर नाराज पाकिस्तान ने वाघा सीमा पर रोकी समझौता एक्सप्रेस

Related Post

Latest News

राजस्थान में बड़ा सियासी घटनाक्रम, गहलोत समर्थक 92 विधायकों ने दिया इस्तीफा 
बजरी ट्रक ऑपरेटरों यूनियन की सोहेला मिर्च मण्डी मे बैठक का आयोजन 
Rajasthan : कांग्रेस विधायक दल की बैठक आज, आलाकमान पर छोड़ा जा सकता है मुख्यमंत्री चयन का फैसला

Trending News

भीलवाड़ा में गुटखा व्यापारी का दिनदहाडे अपहरण, 5 करोड़ फिरौती मांगी, 3 हिरासत में 
ब्रश, स्पंज और उंगलियों से लिक्विड फाउंडेशन कैसे लगाएं
आपके जीवन में स्वस्थ कितना जरुरी हैं और आहार क्या है, फायदे और डाइट चार्ट
बोलेरो को ट्रेलर ने मारी टक्कर तीन की मौत दो बच्चों सहित पांच गम्भीर घायल, भीलवाड़ा रैफर

Top News

राजस्थान में बड़ा सियासी घटनाक्रम, गहलोत समर्थक 92 विधायकों ने दिया इस्तीफा 
बजरी ट्रक ऑपरेटरों यूनियन की सोहेला मिर्च मण्डी मे बैठक का आयोजन 
Rajasthan : कांग्रेस विधायक दल की बैठक आज, आलाकमान पर छोड़ा जा सकता है मुख्यमंत्री चयन का फैसला
भीलवाड़ा में गुटखा व्यापारी का दिनदहाडे अपहरण, 5 करोड़ फिरौती मांगी, 3 हिरासत में 
उपराष्ट्रपति कल राजस्थान के बीकानेर दौरे पर
नवरात्रा 26 से, घट स्थापना का मुहूर्त कब-कब और कैसे करें जानें 
PFI को खाड़ी देशों से मदद, Ed ने 120 करोड़ रुपए किए जब्त,PM पर हमले की थी साजिश
अंकिता हत्याकांड - भाजपा के नेता व पूर्व मंत्री के बेटे के रिसोर्ट पर चला बुलडोजर नेता पार्टी से निलंबित 
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन आज से शुरू, 30 सितम्बर है आखिरी तारीख
कांग्रेस में 'एक व्यक्ति एक पद' का सिद्धांत फॉर्मूला, एक दर्जन नेताओं को देना पड़ेगा इस्तीफा