जयपुर राजस्थान

मुसलमानों ने राजस्थान में कांग्रेस शासन के प्रति जताया विश्वास

मुस्लिमों ने सत्ता और संगठन में मांगी भागीदारी

डॉ. आजम बेग व चौधरी अकबर कासमी ने समाज के हित में कार्य करने पर दिया बल

जयपुर। राजधानी के कर्बला स्थित स्टेट हज हाउस में आयोजित राज्य स्तरीय कॉन्फ्रेंस में प्रदेश व देश के नामी मुस्लिम विद्वानों ने कहा कि कॉन्ग्रेस देश में एकता व अखंडता बनाए रखने और संविधान की रक्षा के लिए एकमात्र विकल्प जरूर है, लेकिन समय रहते कुछ कठोर निर्णय लेने होंगे और अपनी रीती नीति को मुस्लिम समाज के प्रति स्पष्ट करना होगा और उसे मुसलमानों को सियासी भागीदारी देनी होगी, यदि अब भी नहीं संभली तो आने वाला समय कांग्रेस के लिए अच्छा नहीं होगा, इन हालात से कांग्रेस को यदि बचना है और इमानदारी बरतना है तो उसे जो समुदाय और वर्ग 90 फीसद वोट देता आया है और दे रहा है उस समुदाय और वर्ग को वंचित नहीं रखना होगा। साथ ही उनके अधिकार देने होंगे और सियासत सहित सभी स्तर पर आबादी के अनुपात में हिस्सेदारी देनी होगी। कुछ इसी तरह का निष्कर्ष उक्त कॉन्फ्रेंस में निकल कर आया।

राजस्थान मुस्लिम एजुकेशनल सोसायटी एवं सांझी विरासत मंच की ओर से आयोजित इस कॉन्फ्रेंस में जहां कांग्रेस पार्टी के प्रतिनिधि तथा कोमों मिल्लत के कोटे से पार्टी का प्रतिनिधित्व करने वाले विभिन्न बोर्ड, कमेटी, आयोग के चेयरमैन, इस्लामी विद्वान, बुद्धिजीवी, सामाजिक व मुस्लिम संगठनों के पदाधिकारी भी मौजूद रहे।

कांफ्रेंस की अध्यक्षता करते हुए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय संयोजक ,उत्तर प्रदेश प्रभारी एवं राजस्थान मुस्लिम एजुकेशनल सोसाइटी के प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर आजम बैग ने कहा कि आज देश में मुसलमानों की राजनीतिक, सामाजिक, आर्थिक, शैक्षणिक हर स्तर पर हालत एससी, एसटी एवं ओबीसी वर्ग से भी निचले दर्जे पर पहुंच गई है, जो कि इस कौम के लिए अच्छे संकेत नहीं है और इसके लिए काफी हद तक हम स्वयं जिम्मेदार है।

कांग्रेस द्वारा केंद्रीय स्तर पर बनाई गई जस्टिस सच्चर कमेटी ने भी इस चीज का विस्तार से खुलासा किया है। लिहाजा राजस्थान व देश भर की कॉन्ग्रेस पार्टी व इसके पदाधिकारियों को चाहिए कि वह मुस्लिम समुदाय को इस पिछड़ेपन से उबारने के लिए कार्य योजना बनाएं और समुदाय स्वयं भी अपने स्तर पर कोई समयबद कार्य योजना बनाएं।

डॉक्टर आजम बेग ने कांग्रेस पार्टी की हिमायत करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा राजस्थान में शिक्षा व अन्य मामलों में किए गए सराहनीय योगदान के बारे में विस्तार से बताया। साथ ही अपील करते हुए कहा कि वंचितों को उनके अधिकार समय रहते मिलने चाहिए, इसके लिए कांग्रेस जन प्रयासरत हैं।

वहीं सांझी विरासत मंच के नेशनल कन्वीनर चौधरी अकबर कासमी ने कहा कि आज देश में हालात बहुत अफसोसनाक हैं इसके लिए काफी हद तक सांप्रदायिक ताकतें जिम्मेदार हैं तथा मनुवादी सोच ने देश भर में सांप्रदायिक सौहार्द को खराब करने में अपना रोल अदा किया है। उन्होंने कहा कि वे मनुवादियों की सोच को व्यवहारिक स्वरूप प्रदान नहीं करने देंगे। ऐसे अवसरवादियों को उनके मंसूबों को कामयाब होने से रोका जाएगा। साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से अपील की है कि वे मुसलमानों के शेष बचे बोर्ड, अकादमी आदि में योग्य व्यक्तियों को उचित स्थान देकर समुदाय को राहत प्रदान करें ,उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम में मुस्लिम समुदाय द्वारा दिए गए योगदान का भी जिक्र किया।

टोंक से आए विशिष्ट अतिथि मुफ्ती मोहम्मद आदिल नदवी ने कौम को उनकी जिम्मेदारियां याद दिलाई और शिक्षा के साथ-साथ कुरान और सुन्नत पर अमल पेरा रहने की हिदायत दी। पार्षद राबिया गुडेज और महिला कांग्रेस की प्रदेश सचिव श्रीमती रूबी खान ने भी अपने समाज से महिलाओं को उचित प्रतिनिधित्व देने और हर क्षेत्र में साथ रखने का आग्रह किया।

वरिष्ठ समाजसेवी एवं तंजीम ए मिल्लत के संस्थापक हाफिज मंजूर खान व वेलफेयर पार्टी ऑफ इंडिया के प्रदेश अध्यक्ष वकार अहमद ने कहा कि अब समय बदल रहा है और इस बदलते समय को मद्देनजर रखते हुए कांग्रेस पार्टी को भी चाहिए कि वह अपनी सोच को बदलें और जो उसके लिए मददगार व कारगर साबित हो रहे हैं उन्हें उनका वास्तविक हक दिया जाए। उन्होंने कुरान और सुन्नत के हवाले से मुस्लिम समुदाय को अपनी जिम्मेदारियां भी याद दिलाई।

वार्ड संख्या 12 से क्षेत्रीय पार्षद पति अख्तर हुसैन ने कहा कि काम करने का जज्बा हो तो तालीम भी आड़े नहीं आती है और जब कोई किसी काम के लिए ठान लेता है तो ईश्वर की मदद के साथ वह पूरा होता है। उन्होंने कर्बला में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय की स्वीकृति मिलने की जानकारी देते हुए कहा कि शीघ्र ही इस विद्यालय में क्षेत्रीय छात्र-छात्राएं प्रवेश लेकर अध्ययनरत होंगे।

कान्फ्रेंस के मुख्य अतिथि एवं राजस्थान अल्पसंख्यक आयोग के चेयरमैन व आदर्श नगर विधायक रफीक खान ने कहा कि कुछ लोग कांग्रेस पार्टी के खिलाफ दुष्प्रचार कर रहे हैं, जिसमें नाम मात्र की भी सच्चाई नहीं है। उन्होंने कांग्रेस पार्टी का पक्ष लेते हुए कहा कि जब जब कॉन्ग्रेस सत्ता से बाहर हुई है तब तक प्रदेश भर में अराजकता का माहौल बना है। कुछ लोगों का काम ही नकारात्मक सोच के साथ काम करना है, वे लोग कांग्रेस पार्टी को बदनाम करते हैं, जबकि कांग्रेस ने समय-समय पर सभी समुदाय, वर्ग व जातियों का ध्यान रखते हुए कार्य किया है, जो आज भी जारी है।

उन्होंने कांग्रेस सरकार द्वारा अल्पसंख्यकों के हित में किए जा रहे कार्यों पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि उनके विधानसभा क्षेत्र में तालीम को लेकर स्कूल, कॉलेज व विशेषकर बालिका शिक्षा व स्वास्थ्य के लिए जो कार्य हुए हैं वे अन्य पार्टी के विधायक, मंत्री या मुख्यमंत्री ने नहीं किए हैं और यह सब कुछ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं कांग्रेस पार्टी व रफीक खान के विधायक रहते हुए ही संभव हो पाए हैं।

जेएलएन ग्रुप ऑफ एजुकेशन एवं देव स्कूल ग्रुप के निदेशक मजहर बेग ने सभी आगंतुकों का धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर जयपुर के लगभग 30 सनद याफ्ता उलमा ए किराम को प्रशस्ति पत्र, शॉल व माला पहनाकर स्वागत भी किया गया।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/