जयपुर राजस्थान

राजस्थान में भी मंकीपॉक्स का खतरा, बालक सहित दो संदिग्ध रोगी मिले

जयपुर/ कोरोना के बाद दुनिया के 75 देशों में खेला मंकीपॉक्स संक्रमण ने देश में कर्नाटक और दिल्ली के बाद अब राजस्थान में भी दस्तक दे दी है राजस्थान में एक बालक सहित दो संदिग्ध रोगी मिले हैं इनको तत्काल जयपुर अस्पताल में भर्ती किया जाकर उनके नमूने लेकर जांच को भेजे गए हैं ।

बताया जाता है कि राजस्थान के अजमेर जिले के किशनगढ़ मैं रहने वाले एक व्यक्ति को चिकन पॉक्स की संभावना को लेकर किशनगढ़ से रविवार रात अस्पताल से जयपुर रेफर किया गया जिसे आर यू एच एस (RUHS) मैं बनाया जाए स्पेशल वार्ड में भर्ती कर लिया गया है आर यू एच एस के अधीक्षक डॉ अजीत सिंह के अनुसार सर्तकता बरतें हुए रोजी को आइसोलेट किया गया है और उसके सैंपल लेकर मंकीपॉक्स जांच के लिए s.m.s. मेडिकल कॉलेज भिजवाए गए हैं रोगी कोई ट्रेवल्स टीवी सामने नहीं आई है ।

इसके अलावा आज एक बच्चे को भी मंकीपॉक्स के संदेश लक्षण मानते हुए आर यू एच एस में भर्ती कराई सेलिब्रेट किया गया और उसके भी सैंपल लेकर s.m.s. जांच के लिए भेजे गए हैं दोनों के सैंपल की रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा कि इनमें मंकीपॉक्स संक्रमण है या नहीं या फिर इनको चिकन पॉक्स

चिकित्सकों के अनुसार मंकीपॉक्स संक्रमण की पहचान रोगी के प्राइवेट पार्ट और मलद्वार के आसपास इंजन आयल पेन होता है और विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार मंकीपॉक्स के लक्षण 6 से 13 दिन के अंदर दिखाई देने लगते हैं हालांकि कई बार 5 से 21 दिन का समय भी ले सकता है संक्रमित होने पर अगले 5 दिन के अंदर बुखार सिर दर्द थकान और पेट में दर्द जैसे लक्षण दिखते हैं

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम