Minister will give presentation on implementation of budget announcements, CM convened feedback meeting on 1st and 2nd June
जयपुर राजस्थान

बजट घोषणाओं के क्रियान्वयन पर मंत्री देंगे प्रेजेंटेशन, 1 व 2 जून को सीएम ने बुलाई फीडबैक बैठक

जयपुर। प्रदेश में डेढ़ साल के बाद होने जा रहे विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अब अलर्ट मोड पर हैं। सीएम गहलोत की मंशा है कि पांचवें और अंतिम बजट से पहले चौथे बजट में की गई तमाम घोषणाओं की क्रियान्वयन हो और उन्हें धरातल पर लागू कर दिया जाए, जिससे जनता को योजनाओं का लाभ मिले।

चौथे बजट में की गई घोषणाओं की विभागवार क्या क्रियान्वित हुई है और कितनी योजनाएं अभी भी लागू नहीं हो पाई हैं। इसे लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 1 और 2 जून को तमाम मंत्रियों और अधिकारियों की फीडबैक बैठक बुलाई है। मुख्यमंत्री आवास में 2 दिन चलने वाली इस फीडबैक बैठक में तमाम विभागों के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

सभी मंत्री देंगे विभागवार प्रेजेंटेशन

बताया जाता है कि बजट घोषणाओं के क्रियान्वयन और फ्लैगशिप योजनाओं को लेकर तमाम विभागों के मंत्री करीब एक 1 घंटे का प्रेजेंटेशन देंगे और बताएंगे कि बजट में उनके विभाग से संबंधित जो घोषणा की गई हैं उनमें से कितनी घोषणाएं अब तक धरातल पर लागू हो चुकी हैं और कितनी घोषणा अभी भी लागू नहीं हो पाई हैं।

उन घोषणाओं के लागू होने के बाद उनका लाभ जनता को मिल रहा है या नहीं? इन तमाम मुद्दों पर मंत्री मुख्यमंत्री के सामने अपने प्रेजेंटेशन देंगे। इसके अलावा हाल ही में अपने अपने प्रभार वाले जिलों के दौरे के दौरान फ्लैगशिप योजना और बजट घोषणाओं को लेकर तैयार की गई रिपोर्ट भी मंत्री मुख्यमंत्री गहलोत को सौंपेंगे।

फ्लैगशिप योजनाओं पर भी देंगे प्रेजेंटेशन

बताया जाता है कि मंत्रियों के अलावा विभागों के प्रमुख सचिवों और अन्य अधिकारी भी विभाग के कामकाज का प्रेजेंटेशन देने के साथ ही फ्लैगशिप योजनाओं की प्रगति रिपोर्ट भी मुख्यमंत्री गहलोत को देंगे।

मंत्रियों के प्रेजेंटेशन के बाद सीएम देंगे निर्देश

सूत्रों की माने तो 2 दिन चलने वाली फीडबैक बैठक के दौरान मंत्रियों के प्रेजेंटेशन के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तमाम मंत्रियों और अधिकारियों को पूरी मुस्तैदी के साथ बजट घोषणाओं को जल्द से जल्द धरातल पर लागू करने और उनका लाभ जनता को देने के निर्देश भी देंगे। खासकर मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट माने जाने वाले निःशुल्क दवा योजना, निःशुल्क जांच योजना और चिरंजीवी बीमा योजना पर विशेष फोकस करने के निर्देश भी अधिकारियों को देंगे।

प्रेजेंटेशन के जरिए होगा मंत्रियों का परफॉर्मेंस रिपोर्ट कार्ड तैयार

विश्व सूत्रों की माने तो 2 दिन चलने वाली फीडबैक बैठक के पीछे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मंशा यही है कि प्रेजेंटेशन के जरिए मंत्रियों की भी कामकाज का आंकलन कर लिया जाए। प्रेजेंटेशन के जरिए परफॉर्मेंस रिपोर्ट कार्ड तैयार किए कर लिया जाए, जिससे यह पता चल सके कि विभागवार कामकाज के हिसाब से किस मंत्री की परफॉर्मेंस अच्छी रही है और किस मंत्री की परफॉर्मेंस सही नहीं है।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/