Minister refuses to order different uniforms in English-Hindi medium schools, said - no such order was given
जयपुर राजस्थान

अंग्रेजी- हिंदी मीडियम के स्कूलों में अलग-अलग यूनिफार्म के आदेश से मंत्री का इंकार, कहा- ऐसा कोई आदेश नहीं दिया

जयपुर। राज्य सरकार के सरकारी अंग्रेजी और हिंदी माध्यमों के स्कूलों में अलग-अलग यूनिफॉर्म को लेकर चल रही चर्चाओं को शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला ने सिरे से खारिज कर दिया है। मंत्री बीडी कल्ला ने कहा कि ऐसा कोई आदेश सरकार की तरफ से नहीं जारी किया गया है, बीडी कल्ला ने आज प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि स्कूलों में अलग-अलग यूनिफार्म को लेकर शिक्षा विभाग की तरफ से कोई आदेश जारी नहीं किया गया है।

मेरे संज्ञान में भी इस तरह का कोई मामला नहीं है,अगर किसी ने अपने स्तर पर इस तरह का फैसला ले लिया है तो इसकी जांच करवाएंगे और ऐसे लोगों पर कार्रवाई करेंगे। गौरतलब है कि इस तरह की चर्चाओं के बाद सोमवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में जनसुनवाई करने आए खाद्य आपूर्ति मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने इस पर भड़कते हुए कहा था कि अगर ऐसा आदेश शिक्षा विभाग की ओर से जारी हुआ है तो गलत है मैं इस मामले में शिक्षा मंत्री और मुख्यमंत्री से बात करूंगा।

पॉलिसी बनने के बाद ही होंगे थर्ड ग्रेड के तबादले

वही थर्ड ग्रेड टीचरों के तबादलों को लेकर मंत्री बीडी कल्ला ने कहा कि फिलहाल थर्ड ग्रेड के तबादले अभी नहीं होंगे। मंत्री बीडी कल्ला ने कहा कि मानते हैं कि थर्ड ग्रेड टीचरों के तबादले की परेशानी बनी हुई है। जिलों में मेरिट और काउंसलिंग के आधार पर इनकी नियुक्ति हुई थी। ऐसे में इनके तबादलों को लेकर पॉलिसी बनाने का काम किया जा रहा है।

थर्ड ग्रेड टीचरों को लेकर अलग-अलग राज्यों में क्या व्यवस्था है उनका अध्ययन करवा रहे हैं और उसके बाद ही नई पॉलिसी बनाकर तबादलों पर विचार करेंगे।कल्ला ने कहा कि अगर कोई अपनी सीनियरिटी छोड़कर अन्य जिलों में तबादला करवाना चाहता है तो उस पर विचार करेंगे। इसके अलावा दिव्यांगों, विधवा,परित्यक्ता और गंभीर बीमारी से पीड़ित अध्यापकों के तबादले को प्राथमिकता दी जाएगी।

मुझसे कोई विधायक नाराज नहीं

वहीं बसपा से कांग्रेस में आए विधायक वाजिब अली सहित कई अन्य विधायकों की ओर से मंत्री बीडी कल्ला को लेकर नाराजगी प्रकट करने के सवाल पर मंत्री बीडी कल्ला ने कहा कि मुझसे कोई विधायक नाराज नहीं है। अगर किसी को नाराजगी है तो मुझसे आकर मिल सकते हैं, अपनी नाराजगी को लेकर मुझसे कोई विधायक नहीं मिला। मैं तो रोजाना अपने घर पर जनसुनवाई करता हूं किसी का भी कोई काम नहीं रुकता है । उन्होंने कहा कि उर्दू टीचरों के पद मुख्यमंत्री गहलोत ने सेंशन किए हुए हैं। रीट परिणाम जारी करने के बाद उन्हें नियुक्तियां दी जा सकेंगी।

राजस्थान में हुआ सरकार गिराने का प्रयास

मंत्री बीडी कल्ला ने राज्यसभा चुनाव में हॉर्स ट्रेडिंग के सवाल पर कहा कि राजस्थान में हॉर्स ट्रेडिंग के जरिए सरकार गिराने के प्रयास पहले भी हो चुके हैं। राजस्थान में मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र दोहराने की कई कोशिशें हो चुकी है लेकिन हमारी एकजुटता से उनके मंसूबे कामयाब नहीं हो पाए। मंत्री बीडी कल्ला ने कहा कि हो सकता है कि राजेंद्र गुढ़ा को राज्यसभा चुनाव में किसी ने हॉर्स ट्रेडिंग के लिए एप्रोच किया हो।
गौरतलब है कि मंत्री राजेंद्र गुढ़ा ने कहा था कि राज्यसभा चुनाव में उन्हें हॉर्स ट्रेडिंग के जरिए बड़ी राशि देने का ऑफर आया था।

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/