जोधपुर राजस्थान

एक साल की उम्र में ब्याही, 20 साल बाद सारथी की मदद से जन्मदिन पर बाल विवाह मुक्ति का मिला उपहार

जोधपुर। महज एक साल की अबोध उम्र में बाल विवाह की बेडियों में जकडी रेखा को 20 साल की जद्दोजहद झेलने के बाद आखिर सारथी ट्रस्ट की डॉ.कृति भारती की मदद से जन्मदिन पर बाल विवाह निरस्त का उपहार मिल गया। सारथी ट्रस्ट की मैनेजिंग ट्रस्टी व पुनर्वास मनोवैज्ञानिक डॉ.कृति भारती के संबल के बाद रेखा ने बाल विवाह से मुक्ति के लिए पारिवारिक न्यायालय में बाल विवाह निरस्त की गुहार लगाई थी। जिस पर जोधपुर के पारिवारिक न्यायालय संख्या 2 के न्यायाधीश प्रदीप कुमार मोदी ने बाल विवाह की कुरीति के खिलाफ कड़ा संदेश देकर रेखा के बाल विवाह निरस्त का ऐतिहासिक फैसला सुनाया।

 

जोधपुर निवासी करीब 21 वर्षीय बालिका वधु रेखा वर्ष 2002 में दादाजी के मौसर पर जोधपुर के एक गांव निवासी युवक के साथ बाल विवाह के शिकंजे में जकडी थी। बाल विवाह के समय रेखा की उम्र महज एक साल की ही थी। रेखा के ससुराल वालों ने कुछ सालों पहले लगातार गौना कर विदा करने का दबाव बना दिया। जिससे रेखा को खुद के एएनएम बनने का सपना ख्वाब टूटता दिखा तो अवसाद में घिर गई। उधर ससुराल वालों ने 10 लाख रुपए जाति दंड तक के फरमान से दबाव बनवा दिया।

सारथी का संबल, कोर्ट में दस्तक

 

इस बीच बालिका वधु रेखा को वर्ल्ड टॉप टेन एक्टिविस्ट और बीबीसी 100 प्रेरणादायी महिलाओं में शुमार सारथी ट्रस्ट की मैनेजिंग ट्रस्टी व पुनर्वास मनोवैज्ञानिक डॉ. कृति भारती की बाल विवाह निरस्त की मुहिम के बारे में जानकारी मिली। रेखा ने सारथी ट्रस्ट की डॉ. कृति भारती की मदद से जोधपुर पारिवारिक न्यायालय में बाल विवाह निरस्त की गुहार लगा कर वाद दायर किया । वहीं दूसरी तरफ रेखा को एएनएम कोर्स में प्रवेश लेने के लिए प्रेरित किया। 

 

बाल विवाह निरस्त का आदेश, कुरीति के खिलाफ कडा संदेश

 

 डॉ.कृति भारती ने पारिवारिक न्यायालय में पैरवी करते हुए बाल विवाह और आयु प्रमाण के तथ्यों से अवगत करवाया। जिस पर पारिवारिक न्यायालय संख्या 2 के न्यायाधीश प्रदीप कुमार मोदी ने करीब 20 साल पहले रेखा के महज एक साल की उम्र में हुए बाल विवाह को निरस्त करने का ऐतिहासिक आदेश सुनाया। न्यायाधीश मोदी ने बाल विवाह की कुरीति के खिलाफ कड़ा संदेश दिया। उन्होंने कहा कि एक सदी से बाल विवाह की कुरीति को नहीं मिटा पाए हैं। अब सभी को मिलकर बाल विवाह को जड से मिटाने का संकल्प लेना चाहिए। 

 

सारथी ट्रस्ट निरस्त में सिरमौर

 

गौरतलब है कि बाल विवाह निरस्त की अनूठी मुहिम में जुटे सारथी ट्रस्ट की डॉ. कृति भारती ने ही देश का पहला बाल विवाह निरस्त करवाया था और उसके बाद अब तक 47 बाल विवाह निरस्त और 1600 से अधिक बाल विवाह रुकवाए है। 2015 में तीन दिन में दो जोड़ों के बाल विवाह निरस्त करवाकर भी इतिहास रचा था। डॉ.कृति भारती का नाम बाल विवाह की मुहिम में अलग अलग कीर्तिमान रचने पर 7 अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय रिकॉर्ड में दर्ज हो चुका है। कृति भारती को बीबीसी हिंदी की 100 वीमेन सूची और यूएसए की टैफेड मैगजीन की विश्व के टॉप 10 एक्टिविस्ट सहित कई राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय सम्मानों से नवाजा जा चुका है।

 

इनका कहना है

 

— रेखा को जन्मदिन पर बाल विवाह निरस्त का उपहार मिला है। अब बाल विवाह निरस्त होने के बाद उसके एएनएम बनने का सपना पूरा हो पाएगा। उसके बेहतर पुनर्वास के प्रयास किए जा रहे हैं। -डॉ. कृति भारती, मैनेजिंग ट्रस्टी एवं पुनर्वास मनोवैज्ञानिक, सारथी ट्रस्ट, जोधपुर।

 

 

डाॅ.कृति भारती

मैनेजिंग ट्रस्टी एवं पुनर्वास मनोवैज्ञानिक

सारथी ट्रस्ट, जोधपुर ।

मोबाइल- 96944-26078

78910-22224

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/