ब्रजहोली महोत्सव में दिखेंगे होली के कई रंग और रूप

Dr. CHETAN THATHERA
6 Min Read

जयपुर। पर्यटन विभाग और भरतपुर जिला प्रशासन की ओर से आगामी 1 मार्च से 3 मार्च तक ब्रजहोली महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। ब्रजहोली महोत्सव का आयोजन भरतपुर, डीग और कामां में किया जाएगा। इस महोत्सव में “रंगीलो राजस्थान” मेगा राजस्थानी सांस्कृतिक संध्या, श्रीराम भारतीय कला केंद्र, नई दिल्ली द्वारा श्रीकृष्ण की जीवनी पर आधारित नाट्य मंचन और बरसाना के माधवॉज रॉक बैंड की ओर से भक्ति संध्या का आयोजन विशेषतौर पर आकर्षण का केंद्र होंगे। 

ब्रजहोली मोहत्सव में देशी और विदेशी पर्यटकों को होली के कई रंग, गुलाल होली, कुंज होली, दूध-दही होली,लड्डू होली,फूलों की होली,और लट्ठमार होली के रूप में देखने को मिलेंगे। पर्यटन विभाग और भरतपुर जिला प्रशासन की ओर से ब्रजहोली महोत्सव की तैयारियां जोरों पर हैं। डीग से ब्रज होली महोत्सव की शुरूआत होगी और समापन तीन मार्च को भरपुर में मेगा राजस्थानी सांस्कृतिक संध्या के साथ होगा।

1 मार्च को डीग के मेला मैदान में खेलकूद प्रतियोगिताएं आयोजित होंगी, जिसमें   रस्साकशी, कबड्डी, मटका दौड़, नींबू दौड़ सहित दादा-पोता दौड़ का आयोजन होगा वहीं डीग महल परिसर में दोपहर में मेहंदी, रंगोली और मूंछ प्रतियोगिता के बाद लोक कलाकारों की शानदार मनमोहक प्रस्तुतियां होंगी और शाम को श्रीकृष्ण की जीवनी पर आधारित नाटक का मंचन होगा।

2 मार्च को कामां के लाल दरवाजा पर गणेश पूजन के बाद गोकुल चंद्रमाजी मंदिर में गुलाल होली,कुंज गुलाल होली, मदनमोहनजी मंदिर में , राधा वल्लभजी मंदिर में दूध-दही और लड्डू होली खेली जाएगी। गोपीनाथजी मंदिर से शोभायात्रा की शुरूआत होगी जिसमें स्थानीय नागरिक लट्ठमार होली खेलते हुए राधावल्लभजी तक आएंगे और वहां फूलों की होली और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आनंद लेंगे। महाआरती और दीपदान विमलकुण्ड में आयोजित होने के बाद गोपीनाथजी मंदिर में होरी के रसिया का गायन होगा और शाम का समापन कोट ऊपर स्टेडियम में भक्ति संध्या के साथ होगा।  

3 मार्च को भरतपुर के लोहागढ़ स्टेडियम में खेलकूद प्रतियोगिताएं, राजकीय संग्रहालय में चित्रकला, मेहंदी एवं रंगोली प्रतियोगिता, साफा बांधना प्रतियोगिता एवं मू्ंछ प्रतियोगिता का आयोजन होगा सांयकाल में विश्वप्रिय शास्त्री पार्क में रंगीलो राजस्थान सांस्कृतिक संध्या के आयोजन के साथ ही तीन दिवसीय ब्रजहोली महोत्सव कार्यक्रम का समापन होगा।

Brajholi Mahotsav going to start on 1st March

 

  • Key attractions of Brajholi Mahotsav will be Gulal Holi, Kunj Gulal Holi, Milk-curd Holi, Laddu Holi, Flower’s Holi and Lathmar Holi
  • From 1st March to 3rd March many programs will be organized in Bharatpur, Kama and Deeg
  • Department of Tourism and Bharatpur district administration is in full swing for the preparations for the event

 

Jaipur, 23rd February 2023: Department of Tourism and Bharatpur district administration organizing three days “Brajholi Mahotsav” in Bharatpur, Kama and Deeg from 1st March to 3rd march 2023. In these three days of Mahotsav, the key attractions will be Mega Rajasthani Sanskratik Sandhya’s “Rangilo Rajasthan”, a drama based on the life of Lord Shri Krishana which will be presented by Shriram Bhartiya Kala Kendra, New Delhi and Bhakti Sandhya will be presented by Madhwaj Rock Band of Barsana.

 

In this Brajholi Mahotsav, domestic and foreign tourists will get to see and enjoy the many colours of Holi like; Gulal Holi, Kunj Gulal Holi, Milk-curd Holi, Laddu Holi, Flower’s Holi and Lathmar Holi. Department of Tourism and Bharatpur district administration is in full swing for the preparations of Brajholi Mahotsav. The Brajholi Mahotsav will start from Deeg on 1st March and will end with Mega Rajasthani Sanskratik Sandhya’s “Rangilo Rajasthan” at Bharatpur on 3rd March 2023.

 

On March 1st – Sports competitions will be organized at Mela Maidan, Deeg in which Tug-of-war, Kabbadi, Matka Race, Lemon Race and Grandfather-grandson Race will be organized, while in the Deeg Mahal Palace campus in the afternoon Mehndi, Rangoli and Mustache competition will be organized and after this a spectacular performance will be presented by folk artists. In the evening a play based on the life of Lord Shri Krishan will be staged.

 

On March 2nd – After worshiping Ganesh at the Lal Darwaza, Kama, Gulal Holi, and Kunj Gulal will be played at Gokul Chandramaji Temple, Milk-curd Holi at Madanmohanji Temple and Laddu Holi will be played at Radha Vallabhji Temple. The procession will start from Gopinathji Temple where local citizens will play Lathmar Holi and it will come to Radha Vallabhji Temple where they will enjoy cultural programmes and Flower’s Holi at there. Mahaarti and Deepdan will be held at Vimalkund, after that Hori Ke Rasiya will be sung at Gopinathji Temple and the evening will be end with Bhakti Snadhya at Kot Upar Stadium.

 

On March 3rd – Sports competitions, Painting, Mehndi and Rangoli competitions, Turban tying competition and Mustache competition will be organized in the Government Museum at Lohagarh stadium in Bharatpur. In the evening, convening of Rangilo Rajasthan Sanskratik Sandhya at Vishwapriya Shastri Park, the three-days Brajholi Mahotsav will be concluded.

 

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम