मोदी की सांसदों को सीख कार्यकर्ताओं की बात सुनें उनके काम करें

नई दिल्ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा सांसदों को कड़ी मेहनत करने और अपने संसदीय क्षेत्र से जुड़े मुद्दों पर लगातार ध्यान देने को कहा है। सांसदों की कार्यशाला में गुरुमंत्र देते हुए पीएम ने सांसदों से कार्यकर्ताओं की बातें सुनने को भी कहा पीएम ने कहा बीजेपी का स्वाभाविक विस्तार हुआ है, कृत्रिम ढंग …

मोदी की सांसदों को सीख कार्यकर्ताओं की बात सुनें उनके काम करें Read More »

August 4, 2019 3:23 pm
नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा सांसदों को कड़ी मेहनत करने और अपने संसदीय क्षेत्र से जुड़े मुद्दों पर लगातार ध्यान देने को कहा है। सांसदों की कार्यशाला में गुरुमंत्र देते हुए पीएम ने सांसदों से कार्यकर्ताओं की बातें सुनने को भी कहा पीएम ने कहा बीजेपी का स्वाभाविक विस्तार हुआ है, कृत्रिम ढंग से नहीं। शनिवार को बीजेपी सांसदों की कार्यशाला में पीएम मोदी सांसदों के बीच जाकर बैठ गए।
ऐसी तस्वीरें कम ही देखने को मिलती हैं जब प्रधानमंत्री आठवीं पंक्ति में बतौर श्रोता बैठे हों। आज बीजेपी सांसदों की कार्यशाला में ऐसा ही हुआ जब एक सत्र में वे सांसदों के बीच जाकर बैठे। इससे पहले सुबह उन्होंने इस कार्यशाला का उद्घाटन किया और सांसदों से कार्यकर्ताओं को कभी न भूलने को कहा बीजेपी के विस्तार को उन्होंने स्वाभाविक बताया
संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी के मुताबिक पीएम मोदी ने कहा कि भाजपा का विस्तार स्वाभाविक ढंग से हुआ है। पारिवारिक पार्टियों की तरह जोड़ा नहीं गया।
हालांकि हाल ही में गोवा में कांग्रेस के 10 विधायक टूट कर बीजेपी मे आए हैं और टीडीपी के चार राज्यसभा सांसद भी। पश्चिम बंगाल में भी अन्य पार्टियों से नेताओं के आने का सिलसिला जारी है। शायद यही वजह है कि पार्टी की विचारधारा से परिचय कराने के लिए यह दो दिन की कार्यशाला हो रही है।
जोशी के मुताबिक पीएम ने सांसदों से कहा वे अपने मन के विद्यार्थी को जीवित रखें और हमेशा कुछ नया सीखने का प्रयास करें।उन्होंने त्रिपुरा में स्थानीय निकाय में जीत का जिक्र किया। कहा कि संगठन मज़बूत होने से हम चुनाव जीतते हैं. 2014 में जब वे पीएम बने थे तब सूरजकुंड में ऐसा वर्ग हुआ था। उससे बहुत फायदा हुआ।
पीएम ने कहा कि हम कार्यकर्ताओं की मेहनत से यहां आते हैं. कार्यकर्ताओं के मनोभाव को जीवित रखना चाहिए. पीएम ने सांसदों से कहा कि वे अपनी उम्र का ध्यान रखे बिना अपने मन के विद्यार्थी को हमेशा जीवित रखे. सीखना एक सतत प्रक्रिया है. पार्टी परिवार है. कार्यकर्ता बेहद महत्वपूर्ण है.
उन्होंने कहा कि बीजेपी अपनी विचारधारा के कारण आगे बढ़ रही है परिवार के कारण नहीं।अमित शाह ने सांसदों से कहा कि अभ्यास वर्ग से वे हमेशा अलर्ट रहेंगे। बिना विचारधारा के डाइल्यूशन के आप सीख सकते हैं।
पीएम मोदी और अमित शाह इस कार्यशाला को रविवार को भी संबोधित करेंगे। इसमें सांसदों को सांसद निधि के बेहतर उपयोग, सोशल मीडिया और नमो ऐप की बारिकियां आदि के बारे में समझाया गया। सांसदों को कई समूहों में बांटा गया है और वे कैबिनेट मंत्रियों के साथ डिनर करेंगे।अगले सप्ताह ऐसी ही कार्यशाला सांसदों के निजी स्टाफ के लिए भी होगी।

Prev Post

भारतीय सेना ने पीओके में मौजूद आतंकी ठिकाने नष्ट किए एक और सर्जिकल स्ट्राइक का दावा

Next Post

बारिश का कहर कच्चा मकान गिरा 

Related Post

Latest News

राजस्थान में बड़ा सियासी घटनाक्रम, गहलोत समर्थक 92 विधायकों ने दिया इस्तीफा 
बजरी ट्रक ऑपरेटरों यूनियन की सोहेला मिर्च मण्डी मे बैठक का आयोजन 
Rajasthan : कांग्रेस विधायक दल की बैठक आज, आलाकमान पर छोड़ा जा सकता है मुख्यमंत्री चयन का फैसला

Trending News

भीलवाड़ा में गुटखा व्यापारी का दिनदहाडे अपहरण, 5 करोड़ फिरौती मांगी, 3 हिरासत में 
ब्रश, स्पंज और उंगलियों से लिक्विड फाउंडेशन कैसे लगाएं
आपके जीवन में स्वस्थ कितना जरुरी हैं और आहार क्या है, फायदे और डाइट चार्ट
बोलेरो को ट्रेलर ने मारी टक्कर तीन की मौत दो बच्चों सहित पांच गम्भीर घायल, भीलवाड़ा रैफर

Top News

राजस्थान में बड़ा सियासी घटनाक्रम, गहलोत समर्थक 92 विधायकों ने दिया इस्तीफा 
बजरी ट्रक ऑपरेटरों यूनियन की सोहेला मिर्च मण्डी मे बैठक का आयोजन 
Rajasthan : कांग्रेस विधायक दल की बैठक आज, आलाकमान पर छोड़ा जा सकता है मुख्यमंत्री चयन का फैसला
भीलवाड़ा में गुटखा व्यापारी का दिनदहाडे अपहरण, 5 करोड़ फिरौती मांगी, 3 हिरासत में 
उपराष्ट्रपति कल राजस्थान के बीकानेर दौरे पर
नवरात्रा 26 से, घट स्थापना का मुहूर्त कब-कब और कैसे करें जानें 
PFI को खाड़ी देशों से मदद, Ed ने 120 करोड़ रुपए किए जब्त,PM पर हमले की थी साजिश
अंकिता हत्याकांड - भाजपा के नेता व पूर्व मंत्री के बेटे के रिसोर्ट पर चला बुलडोजर नेता पार्टी से निलंबित 
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन आज से शुरू, 30 सितम्बर है आखिरी तारीख
कांग्रेस में 'एक व्यक्ति एक पद' का सिद्धांत फॉर्मूला, एक दर्जन नेताओं को देना पड़ेगा इस्तीफा