कांग्रेस चिंतन शिविर में राजस्थानी मेहमान नवाजी का लुत्फ उठाएंगे नेता, पर्यटन स्थलों के भी भ्रमण की तैयारी

Leaders will enjoy Rajasthani hospitality in Congress Chintan Shivir, preparing to visit tourist places too

जयपुर। त्याग, शौर्य और बलिदान की धरती के रूप में मशहूर उदयपुर में इस बार 13 से 15 मई तक हो रहे कांग्रेस के राष्ट्रीय चिंतन शिविर में आने वाले नेता राजस्थानी मेहमान नवाजी का लुत्फ उठाएंगे। कांग्रेस चिंतन शिविर की मेजबानी में जुटी प्रदेश कांग्रेस नेताओं की मेहमाननवाजी राजस्थानी और मेवाड़ की परंपराओं के मुताबिक करने की तैयारी में हैं, जिससे कि देश भर से उदयपुर आने वाले कांग्रेस नेताओं को सालों तक राजस्थान की मेहमान नवाजी और खान-पान याद रहे। कांग्रेस चिंतन में शिविर में सोनिया गांधी, राहुल- प्रियंका सहित देश भर से 400 नेताओं को चिंतन शिविर में आमंत्रित किया गया है।

खानपान और स्वागत समिति को मिला जिम्मा

दरअसल कांग्रेस चिंतन शिविर में आने वाले मेहमानों की मेहमान नवाजी का जिम्मा प्रदेश कांग्रेस ने खानपान समिति और स्वागत समिति को सौंपा है और साथ ही निर्देश भी दिए हैं मेहमाननवाजी में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं रहनी चाहिए।

दाल-बाटी चूरमा और केर सांगरी खानपान के मैन्यू में शामिल

कांग्रेस चिंतन शिविर में आने वाले नेता चिंतन शिविर के दौरान लजीज और राजस्थान के पारंपरिक व्यंजनों का लुत्फ उठा सकेंगे। मेहमानों को परोसे जाने वाले भोजन के मैन्यू में विशेष तौर पर दाल-बाटी चूरमा और पश्चिमी राजस्थान की मशहूर केर सांगरी को खानपान के मैन्यू में शामिल किया गया है। इसके अलावा सेव टमाटर और गट्टे की सब्जी को भी मैन्यू में शामिल किया गया है। मिठाई में बीकानेर के प्रसिद्ध रसगुल्ले भी मेहमानों को परोसे जाएंगे।

मारवाड़ी पगड़ी से होगा स्वागत

पीसीसी नेताओं की माने तो कांग्रेस चिंतन शिविर में आने वाले तमाम नेताओं का स्वागत मारवाड़ी पगड़ी पहनाकर किया जाएगा। साथ ही उदयपुर के डबोक एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और होटलों में भी राजस्थान के पारंपरिक लोक नृत्य के साथ मेहमानों का तिलक और पगड़ी पहनाकर स्वागत किया जाएगा।

चिंतन शिविर के अंतिम दिन करेंगे ऐतिहासिक स्थलों का भ्रमण

बताया जाता है कि कांग्रेस चिंतन शिविर के अंतिम दिन कांग्रेस के अधिकांश नेता उदयपुर के ऐतिहासिक स्थलों का भ्रमण करेंगे। साथ ही चित्तौड़गढ़ दुर्ग के भी भ्रमण करने की बात कही जा रही है।

4 मई को उदयपुर जाएंगे मुख्यमंत्री

इधर कांग्रेस चिंतन शिविर की तैयारियों का जायजा लेने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा 4 मई को उदयपुर जाएंगे और तैयारियों का जायजा लेंगे। उदयपुर में फिलहाल कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य और पूर्व सांसद रघुवीर मीणा और अभाव अभियोग निराकरण समिति के चेयरमैन पुखराज पाराशर चिंतन शिविर की तैयारियों में जुटे हुए हैं।