murder
जयपुर राजस्थान

राजस्थान में SDM कोर्ट मे वकील ने किया आत्मदाह, सुसाइड नोट मे SDM पर लगाए गंभीर आरोप

जयपुर/ राजस्थान के सीकर जिले के खंडेला उपखंड मुख्यालय पर आज एक हृदय विदारक घटना घटित हुई जब एसडीएम कोर्ट में एक वकील ने खुद को आग लगाकर एसडीएम को भी बुझाने का प्रयास किया और उसके आत्मदाह के इस प्रयास में वकील की मौत हो गई वकील के देख से सुसाइड नोट मिला जिसमें वकील ने एसडीएम पर रिश्वत मांगने सहित कई गंभीर आरोप लगाए हैं कोर्ट में हुई इस घटना से एक तरफ जहां अफरातफरी मच गई वहीं हादसे में एसडीएम के हाथ भी जल गए।

रानोली थाना अंतर्गत नांगल अबे पूरा निवासी एडवोकेट हंसराज मावलिया(40) करीब 10 सालों से वकालत कर रहा था और आज दोपहर में एसडीएम कोर्ट में एसडीएम राकेश कुमार के चेंबर में गया जब एसडीएम राकेश कुमार चेंबर में बैठे थे हंसराज ने एसडीएम के चेंबर में जाने से पहले ऑफिस का दरवाजा अंदर से बंद कर लिया और खुद को पेट्रोल डालकर आग लगा ली थी तथा अंदर घुसते ही उसने एसडीएम राकेश कुमार को भी अपने गले लगा जबरदस्ती पकड़ने का प्रयास किया लेकिन एसडीएम राकेश कुमार वकील को धक्का देकर भागने लगे इसमें एसडीएम का हाथ भी झुलस गया वही चेंबर में ही मौजूद एक अन्य वकील ने किसी तरह दरवाजे का कांच तोड़कर बाहर निकला और फिर एसडीएम को बाहर निकाला । घटना की सूचना मिलते ही सारे वकील तथा पुलिस भी मौके पर पहुंच गई फायर ब्रिगेड ने मौके पर पहुंच आग पर काबू पाया वकीलों ने वकील हंसराज की आग बुझा उसे तत्काल उपचार के लिए खंडेला हॉस्पिटल भेजा क्या हालत गंभीर होने से जयपुर रेफर किया गया एडवोकेट हंसराज के भाई लक्ष्मण राम ने बताया कि उसके भाई एडवोकेट की इलाज के दौरान मौत हो गई है।

इधर पुलिस को एडवोकेट हंसराज के वेग से पेट्रोल की शीशी विषाक्त पदार्थ तथा एक सुसाइड नोट मिला है इस सुसाइड नोट में एडवोकेट हंसराज ने एसडीएम खंडेला राकेश कुमार पर पक्षपात करने और रिश्वत नहीं देने पर नोटिस जारी करने तथा रिश्वत न देने पर स्थगन आदेश स्टे पारित नहीं करने और उससे अभद्र व्यवहार करने जैसे कई गंभीर आरोप लगाने के साथ ही सुसाइट में यह भी लिखा कि एसडीएम ने धमकी तक दी और थाना प्रभारी खंडेला काशीराम मीणा को भी लेकर एसडीएम ने दो बार धमकाया एसडीएम के कहने पर खंडेला थाना प्रभारी घासीराम मीणा ने भी उसे पिटाई करने और उसे जेल भेजने की धमकी दी थी सुसाइड नोट में एडवोकेट हंसराज ने एसडीएम राकेश कुमार और खंडेला थाना प्रभारी घासीराम मीणा ने उसका जीना दूभर कर दिया था ।

आत्महत्या के अलावा मेरे पास कोई विकल्प नहीं बचा मेरी मौत के सबसे बड़े गुनाहगार एसडीएम राकेश कुमार और खंडेला थाना प्रभारी घासीराम मीणा है । भगवान इनको नरक की जिंदगी प्रदान करें और मेरे पार्थिव शरीर को विधायक अमराराम के आने के बाद ही उठाने देना ।

Dr. CHETAN THATHERA
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम