जयपुर राजस्थान

किसानों का बकाया जमा कराओ, कनेक्शन करवाओ

Jaipur News / Dainik reporter – रबी के सीजन (Rabi Season) में बिजली कनेक्शन (bijli connection) कटवा चुके कृषि उपभोक्ताओं (Agricultural consumers )को राज्य सरकार ने एमनेस्टी योजना (Amnesty scheme) का तोहफा दिया है। इसके तहत एक लाख से अधिक के बकाया वाले सभी कृषि उपभोक्ता 31 दिसम्बर से पहले 50 हजार रुपए जमा करवाकर कनेक्शन वापस करवा सकते हैं। इसमें शेष बची हुई रकम का भुगतान पांच किश्तों में करना होगा। इसमें किसान को ब्याज व पैनल्टी में 50 प्रतिशत की छूट भी दी जाएगी। इसकी घोषणा करते हुए ऊर्जा मंत्री बी.डी. कल्ला ने बताया कि सरकार ने किसानों की आय बढाने के लिए केन्द्र की कुसुम योजना के कम्पोनेंट ए व सी भी लागू किए हैं।

बुधवार शाम विद्युत भवन में प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए ऊर्जा मंत्री ने बताया कि राज्य में लगभग 1.93 लाख कृषि उपभोक्ताओं पर 735 करोड रुपए बकाया है। इसमें करीब 8 हजार 900 उपभोक्ता ऐसे हैं जिन पर एक लाख रुपए से अधिक के बकाया चल रहे हैं। इसके अलावा अन्य श्रेणियों में 5 लाख से अधिक के बकाया वाले उपभोक्ता भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। इसमें 31 मार्च 2019 से पहले के कटे हुए बिजली कनेक्शन के उपभोक्ताओं को ही इस योजना का लाभ मिल पाएगा।

कुसुम योजना के कम्पानेंट सी के तहत किसान अपनी जमीन पर दस हार्सपावर तक का सोलर पंप लगा सकता है। इसमें उत्पादित बिजली को काम में लेने के बाद अतिरिक्त बिजली को डिस्काम खरीदेगा। योजना के तहत किसान को प्रतिहार्स पावर लागत का दस प्रतिशत ही देना होगा। इसमें 30-30 प्रतिशत केन्द्र और राज्य की सब्सिडी और 30 प्रतिशत रकम किसान से बिजली के भुगतान के रूप में किस्तों में ली जाएगी।

कुसुम योजना के कंपोनेंट ए के तहत अब किसान अपनी बंजर जमीन पर सोलर प्लांट लगवा सकते हैं। इसमें उत्पादित बिजली डिस्काम खरीदेगा और नियामक आयोग की तय दर के अनुसार भुगतान करेगा। योजना के तहत किसान जमीन पर आधा मेगावाट से 2 मेगावाट तक का प्लांट लगा सकता है। इसके अलावा इसमें कृषक अपनी जमीन को सोलर प्लांट लगाने के लिए किराए पर भी दे सकता है। इसमें 25 साल का एग्रीमेंट करने की बाध्यता रखी गई है।

Firoz Usmani
Firoz Usmani Tonk : परिचय- पत्रकारिता के क्षेत्र में पिछले 15 वर्षो से संवाददाता के रूप में कार्यरत हुंॅ, 9 साल से राजस्थान पत्रिका ग्रुप के सांयकालीन संस्करण (न्यूज़ टुडे) में जिला संवाददाता के रूप से कार्य कर रहा हंू। राजस्थान पत्रिका न्यूज़ चैनल में भी अपनी सेवाएं देता रहा हूं। एवन न्यूज चैनल में भी संवाददाता के रूप में कार्य किया है। अपने पिता स्व. श्री मुश्ताक उस्मानी के सानिध्य में पत्रकारिता की क्षीणता के गुण सीखें। मेरे पिता स्व.श्री मुश्ताक उस्मानी ने भी 40 वर्षो तक पत्रकारिता के क्षैत्र में कार्य किया है। देश के कई बड़े न्यूज़ पेपर से जुड़े रहे। 10 वर्ष दैनिक भास्कर में ब्यूरों चीफ रहें।