सरपंच दस हजार की रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार

जोधपुर। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने गुरुवार को कनोडिया पुरोहितान ग्राम पंचायत के सरपंच को एक व्यक्ति से दस हजार रुपये रिश्वत लिए जाने को आरोप में गिरफ्तार कर लिया। उसने परिवादी से ट्यूबवैल पर चालक पद पर पुन: नियुक्ति के एवज में यह राशि ली। राशि अपने घर पर ली। पलंग के गद्दे से राशि बरामद किए जाने के साथ तलाशी में अफीम भी मिला। जिस पर देचू थाना पुलिस को अलग से सूचना दी गई। प्रकरण में अब अग्रिम अनुसंधान किया जा रहा है।

ब्यूरो के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भोपालसिंह लखावत ने बताया कि कनोडिया पुरोहितान सेखाला निवासी देवाराम की तरफ से एक शिकायत दी गई। इसमें बताया कि उसे 20 जुलाई 18 के जनता जल योजना के तहत श्मशानघाट ट्यूबवैल पर चालक पद पर नियुक्ति हुई थी। बाद में 10 नवंबर 20 को उसे हटा दिया गया। इस पर नियुक्ति पाने के लिए वह कनोडियो पुरोहितान के ग्राम पंचायत सरपंच सांगसिंह राजपुरोहित से संपर्क किया। तब उसने पुन: नियुक्ति के लिए 30 हजार रुपयों की रिश्वत की मांग की। बाद में 20 हजार लेने पर सहमत हो गया। बाद में संपर्क किए जाने पर 15 हजार में राजी होने के साथ ही पांच हजार रुपये अग्रिम लिए।

एएसपी लखावत ने बताया कि इस शिकायत का सत्यापन करवाए जाने पर सही पाया गया। गुरुवार की सुबह परिवादी देवाराम को शेष दस हजार रुपये लेकर आरोपित सांगसिंह राजपुरोहित के छोगजी की ढाणियां कनोडिया पुरोहितान भेजा गया। जहां पर आरोपित सांगसिंह ने दस हजार रुपये लेकर अपने पलंग के गद्दे के नीचे रख दिए। तब इशारा पाकर दबिश दी गई और आरोपित सांगसिंग को गिरफ्तार कर लिया गया।

पलंग में मिला अफीम 

एसीबी टीम द्वारा पलंग के गद्दे व तकियों को जांच की रही थी तब वहां पर अफीमनुमा काला पदार्थ मिला। इस पर बाद में देचू पुलिस को सूचना देकर बुलाया गया। जिसका प्रकरण अलग से दर्ज हुआ है। अब इसमें अग्रिम अनुसंधान किया जा रहा है।