राजस्थान के जोधपुर में सस्ते सोना लेने के चक्कर में ट्रैवल ड्राईवर ने 5.50 लाख गवाए

Demo Photo

जोधपुर। शहर के महामंदिर रेलवे स्टेशन के नजदीक 5 मार्च की रात साढ़े बारह बजे एक ट्रैवल कार चलाने वाले शख्स से सुनार ने होलसेल रेट में सोना दिलाने का झांसा देकर साढ़े पांच लाख रूपए लेकर चंपत हो गया। पीडित सप्ताह भर तक घोड़ों का चौक मेें सुनारों से पता लगाता रहा। मगर कामयाब नहीं हो पाया। अब वह महामंदिर थाने पहुंचा और केस दर्ज करवाया है। पीडित नागौर जिले के मेड़तासिटी का रहने वाला है। वह नागौर से जोधपुर आया था।

महामंदिर थाने के एएसआई मीठालाल ने बताया कि नागौर जिले के मेड़तासिटी के रहने वाले प्रकाशचंद पुत्र बंशीलाल माली ने यह रिपोर्ट दी। इसमें बताया कि उसकी पहचान छह महिने पहले नागौर निवासी मुन्नालाल पुत्र हनुमानराम तिवाड़ी से हुई थी। तब उसने बताया कि उसे कभी सोना चाहिए तो वह उसे होलसेल रेट में दिलवा देगा। प्रकाशचंद के अनुसार उसके बच्चों की शादी को नजदीक देखकर उसने मुन्नालाल से संपर्क किया। तब उसने बताया कि वह गोल्ड लेने के लिए जोधपुर आ जाए। तब प्रकाशचंद माली 5 मार्च की रात को जोधपुर पहुंचा और रात साढ़े बारह बजे वह साढ़े पांच लाख रूपए लेकर आया।

तब एक बाइक पर मुन्नालाल , उसका बेटा राजेश व एक अन्य आए थे। उससे साढ़े पांच लाख रुपये लिए और कहा कि वे लोग दस पंद्रह मिनट में आ रहे है। तब तक आप चाय पानी पी लो। काफी देर बाद मुन्नालाल और उसका बेटा नहीं आए। इस पर वह उलझन में पड़ गया। वे लोग उसके साढ़े पांच लाख रुपये लेकर चंपत हो गए। करीबन सप्ताह भर तक प्रकाशचंद घोड़ों का चौक एरिया में मुन्नालाल के बारे जानकारी जुटाई तब पता लगा कि कोई होलसेल में सोना नहीं देता है और वह कोई फ्रॉड होगा। इस पर पीडित प्रकाशचंद शनिवार को महामंदिर थाने पहुंचा और केस दर्ज क रवाया। पुलिस ने अब इसमें आस पास के सीसीटीवी फुटेज से पता लगाने के साथ आरोपितों की पहचान के प्रयास कर रही है।