आसमान पर पहुंचे सब्जियों के दाम, प्याज ने सबसे ज्यादा रूलाया

केन्द्र सरकार ने प्याज की आपूर्ति बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए हैं। इसके बावजूद प्याज के दाम बढ़ रहे हैं। एक जानकार सूत्र ने बताया कि सरकार ने पिछले कुछ सप्ताह के दौरान घरेलू आपूर्ति बढ़ाने और कीमतों पर अंकुश के लिए कई कदम उठाए, लेकिन पिछले दो-तीन दिन में उत्पादक राज्यों में भारी बारिश की वजह से आपूर्ति प्रभावित होने से प्याज की खुदरा कीमतों में भारी तेजी आई है

Jodhpur

मानसून (Monsoon) का असर प्याज के दामों पर नजर आ रहा है। राज्य में प्याज (onion) के भाव 60 से 80 रुपए तक पहुंच गए है। जोधपुर(Jodhpur) में पचास से साठ रुपए प्रति किलो तथा जयपुर (Jaipur)में 80 रुपए तक पहुंच गए हैं। बताया गया है कि प्रमुख प्याज उत्पादक राज्यों में मानसून की भारी बारिश से आपूर्ति प्रभावित हुई है, जिसकी वजह से इसकी कीमतों में उछाल आया है।

केन्द्र सरकार ने प्याज की आपूर्ति बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए हैं। इसके बावजूद प्याज के दाम बढ़ रहे हैं। एक जानकार सूत्र ने बताया कि सरकार ने पिछले कुछ सप्ताह के दौरान घरेलू आपूर्ति बढ़ाने और कीमतों पर अंकुश के लिए कई कदम उठाए, लेकिन पिछले दो-तीन दिन में उत्पादक राज्यों में भारी बारिश की वजह से आपूर्ति प्रभावित होने से प्याज की खुदरा कीमतों में भारी तेजी आई है।

हालांकि आपूर्ति में यह बाधा सीमित समय के लिए है। यदि अगले दो-तीन दिन में स्थिति सामान्य नहीं होती है,तो सरकार व्यापारियों के लिए गंभीरता से भंडारण की सीमा तय करने पर विचार कर रही है। मौसम विभाग के अनुसार प्रमुख प्याज उत्पादक क्षेत्रों विशेष रूप से महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, गुजरात, पूर्वी राजस्थान और पश्चिमी मध्यप्रदेश में पिछले कुछ दिन में अत्यधिक बारिश हुई है।

व्यवसायियों के अनुसार प्याज पर अभी संकट आना शुरू हुआ है। मंडी कारोबारी हेमंत नेभनानी ने बताया कि अगर आवक कम होगी, तो प्याज के दामों में और वृद्धि होने की पूरी संभावना है। जोधपुर की मंडियों की बात करें तो यहां प्याज 50-60 रुपए किलो या इससे अधिक भाव पर प्याज की खरीदी जा रही है। अधिक बारिश और अधिक गर्मी होने की वजह से जहां फसलें खराब होने से किसानों को दुगने भावों पर प्याज को बेचना पड़ रहा है।

मंडी में व्यापारियों से जब इस बारे में बात की गई,तो उन्होंने भी प्याज के बढ़ते भावों पर चिंता जताई और कहा कि फसलों के बर्बाद होने के बाद जो बचा हुआ प्याज था वह काफी महंगे भावों में बिक रहा है। इसके चलते इसकी कीमतों में काफी उछाल आया है, मगर अभी जिस तरह साऊथ से प्याज आना शुरू हुआ है,उससे कहीं न कहीं अब भावों में कमी आएगी और लोगों को राहत मिलेगी।