जोधपुर कुड़ी डबल मर्डर केस : तीन तस्करों को पुलिस ने पकड़ा, पुलिस टीमेें राज्य से बाहर से पकड़ लाई

arrested

Jodhpur News। शहर में सात दिन पहले हुए डबल मर्डर के मामले में पुलिस ने शुक्रवार को खुलासा करते हुए तीन तस्करों को हत्या के आरोप मेें गिरफ्तार कर लिया। बदमाश राज्य से बाहर भाग गए थे। पुलिस की टीमों ने पीछा करते हुए तीन लोगों को आज गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की। पकड़े गए अभियुक्त जालोर जिले के रामसीन का रहने वाला शातिर तस्कर ओमप्रकाश उर्फ फौजी पुत्र प्रेमाराम विश्रोई, जालोर के सांचोर का रहने वाला हरीराम पुत्र नैनाराम विश्रोई और डांगियावास जोधपुर के श्रवण पुत्र मंगलाराम जाट को गिरफ्तार किया गया।

 
दरअसल तस्करी के माल को लेकर कमिशन तय हुआ था इसके बाद कमिशन की बात पर झगड़ा हुआ इसके बाद दो जनों को मौत के घाट उतार दिया गया था। वारदात के बाद पुलिस की अलग अलग टीमें आसपास के इलाके सहित राज्य से बाहर भी गई थी। मामले के अनुसार तस्करों के बीच पिछले बुधवार को खूनी खेल हुआ था। जिसमें तस्करों ने भगतसनी गांव से पांच सात किलोमीटर आगे से पांच लोगों का अपहरण किया। बुरी तरह मारपीट कर दो की लाशें इधर उधर फेेंक दी थी। दो घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पांचवा युवक का पता नहीं लगा है।
इधर जाट समाज से जुड़े कई लोग शहर के मथुरादास माथुर अस्पताल में जुट गए थे। साथ ही जल्द ही हत्यारों की गिरफ्तारी मांग करते हुए दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। मृतक व आरोपी एक ही गैंग के है जो तस्करी ट्रक के माल गबन को लेकर हेराफेरी थी। मृतक पक्ष कूरियर का कार्य करता था। जबकि आरोपी पक्ष बड़ा तस्कर है।
बुधवार को दोपहर दो बजे कुड़ी भगतासनी गांव क्षेत्र से पांच लोगों बोयल निवासी महेंद्र पुत्र मोहनराम, डांगियावास के भैराराम जाट, इनकी गाड़ी का चालक दूदे खां, श्रवण और कंवराराम का इनके घरों से 15- 20 बदमाशों ने अपहरण कर ले गए थे। कई घंटों तक गाडिय़ों में घूमाते रहने के साथ मारपीट की गई।
बुरी तरह की गई मारपीट में महेद्र बोयल और भैराराम की मौत हो गई थी। फिर रात को एक शव शहर के बासनी हलके में मेडिपल्स अस्पताल के निकट डाल दिया गया था। वहीं दूसरा शव बोरानाडा हलके में नारनाड़ी के पास में मिला था।