झुंझुनूं

‘शहादत और सिसकियों के बीच में नो पॉलिटिक्स प्लीज़’’ – वसुंधरा राजे

झुंझुनू। पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वसुन्धरा राजे ने शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद मीडिया के एक सियासी सवाल के जवाब में कहा ‘नो पॉलिटिक्स’ प्लीज़। उन्होंने मीडिया से कहा कि ‘शहादत और सिसकियों के बीच सियासत की बात मत करो’।

मीडिया का सवाल था कि झुंझुनू में आयोजित भाजपा की आक्रोश रैली में पहले तो भाजपा के पोस्टर में आपका फ़ोटो लगा दिया गया फिर हटा दिया गया। भाजपा में ऐसा क्यों हो रहा है? इस सवाल के जवाब में पूर्व सीएम ने कहा कि वे यह शहीदों का श्रद्धांजलि कार्यक्रम है।

मैं यहाँ शहीदो को श्रद्धांजलि देने आई हूँ राजनीति करने नहीं। ये वक़्त शहीदों के शौर्य की बात करने का उनके परिजनों को सांत्वना देने का है,ऐसे सवाल-जवाब करने का नहीं। उन्होंने कहा शहीदों का सम्मान हम सब देशवासियो के लिए सबसे ऊपर होना चाहिए।

इससे पूर्व वसुन्धरा राजे घरड़ाना खुर्द के शहीद स्क्वाड्रन लीडर शहीद कुलदीप सिंह राव के घर पहुंचकर शहीद कुलदीप राव की फोटो पर पुष्प अर्पित करके श्रद्धांजलि अर्पित की इसके बाद वीरांगना यश्वनी, बहिन सुभिता, माता कमला व पिता रणधीर सिंह राव से करीब आधा घंटा तक मिलकर बातें की तथा सांत्वना दी। उन्होंने शहीद की मां कमला देवी को को सांत्वना देते हुए कहा आपने ऐसे बहादुर बेटे को जन्म दिया है।

जो देश पर शहीद हुए हैं। वही वीरांगना यश्वनी को सांत्वना देते हुए कहा आपके पति ने तो देश का मान ऊंचा कर दिया। बहिन सुभिता को भी कहा कि आपका भाई पूरे देश का लाडला बन गया है। ऐसे भाई को तो नमन करने चाहिए। उन्होंने कहा आप का परिवार देश भक्त परिवार है। शहीद की वीरांगना यश्वनी और माता कमला को सांत्वना दी।

इसके बाद राजे भैसावता कला के शहीद सुजान सिंह के गाँव गई जहां उन्होंने शहीद को श्रद्धांजलि दी और उसकी पत्नी मंजू को सांत्वना दी। इसके बाद वे वापस घरड़ाना खुर्द आई जहां उन्होंने शहीदों की श्रद्धाजलि सभा में भाग लिया जहां 2 मिनट का मौन रख कर हज़ारों लोगों ने 2 मिनट का मौन धारण करके शहीदो को श्रद्धांजलि दी।

श्रद्धांजलि सभा में वसुंधरा राजे ने कहा कि झुंझुनू जिला वह जिला है जहां देश के लिए बलिदान देने का समय आता है तो यह जिला सबसे आगे रहता है। धन्य है वीरधरा की वो मां वीरांगना व बहन शेरनी बनकर आंसू न बहा कर बेटे की शहादत पर गर्व कर रही है। उन्होने कहा धन्य है वीरधरा की वह मां जिसने देशभक्त बेटे को जन्म दिया हम सभी को दोनों शहीदों की शहादत पर गर्व होना चाहिए। यह वीरधरा है यहां के हर युवक में देशभक्ति का जज्बा है जो सीमा पर जाकर जवान देश की रक्षा करते है। उन्होंने कहा वीर शहीद को आज श्रद्धांजलि देने के लिए उनके घर आई हूं तथा हम सब का दायित्व भी है कि हम सब श्रद्धांजलि दें जिन्होंने देश का मान बढ़ाया है।

घरड़ाना खुर्द के वीर सपूत कुलदीप सिंह राव को श्रद्धांजलि दे कर जब वसुन्धरा राजे भैसावता कला के शहीद सुजान सिंह के गाँव के लिये रवाना हुई तो घरड़ाना खुर्द से भैसावता कला के बीच सड़क पर जाम लग गया। यहाँ तक कि उनकी गाड़ी भी नहीं निकल पाई। खेतों के बीच से होकर ही उनका क़ाफ़िला भैसावता पहुँच पाया।एक संक्षिप्त यात्रा के दौरान ही वसुन्धरा राजे का आम जनता में बहुत क्रेज़ देखने को मिला।

कार्यक्रम में पूर्व मंत्री यूनुस खान, राजपाल सिंह शेखावत, अजय सिंह किलक, सुंदरलाल पूर्व सांसद संतोष अहलावत, पूर्व विधायक शुभकरण चैधरी, दाताराम गुर्जर, खेतड़ी प्रधान मनीषा गुर्जर, चिड़ावा के पूर्व प्रधान कैलाश मेघवाल, पूर्व प्रधान नीता यादव, पूर्व प्रधान हरपाल सिंह सहित अनेक लोग उपस्थित रहे। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे घरडाना में शहीद कुलदीप सिंह राव के घर श्रद्धांजलि देने के बाद भैसावता जाने के रास्ते में जगह-जगह स्वागत द्वार तथा बड़े-बड़े पोस्टर लगाकर उनका स्वागत किया गया।

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के झुंझुनू यात्रा के दौरान भाजपा के सांसद नरेंद्र कुमार खीचड़, सूरजगढ़ विधायक सुभाष पूनिया, जिला प्रमुख हर्षिनी कुलहरी, भाजपा के जिलाध्यक्ष पावन मावांडिया सहित भाजपा के सभी मौजूदा पदाधिकारी नदारद रहे। वसुंधरा राजे की एक दिवसीय झुंझुनू यात्रा के दौरान भाजपा संगठन की लड़ाई खुलकर सड़कों पर आ गई है। हालांकि वसुंधरा राजे ने इसे शहीदों से जोड़कर अपनी प्रतिक्रिया देने से बचती रही। मगर पदाधिकारियों कि उनसे दूरी की राजनीतिक हलकों में खुलकर चर्चा हो रही है।

Reporters Dainik Reporters
[email protected], Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.