झुंझुनू कारागृह में महिला कैदी सीखेंगी ब्यूटी पार्लर का काम

झुंझुनू,। अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में जिले में चल रहे साप्ताहिक सेवा कार्यक्रम के तहत बुधवार को जिला कारागृह में कैदी महिलाओं को सिलाई की मशीन, ब्यूटी चैयर, ब्यूटीनेशन का सामान एवं कैदी महिलाओं के बच्चों को खिलौने सौंपे।

जिला पुलिस अधीक्षक मनीष त्रिपाठी जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव मधु हिसारियां, जिला कारागृह उपाधीक्षक भैरो सिंह राठौड़ ने कैदी महिलाओं को सिलाई की मशीन, ब्यूटी चैयर, ब्यूटीनेशन का सामान एवं कैदी महिलाओं के बच्चों को खिलौने सौंपे।

इस अवसर पर जिला पुलिस अधीक्षक मनीष त्रिपाठी ने महिलाओं से कहा कि सिलाई मशीन एवं ब्यूटी पार्लर का काम मन लगाकर सीखें ताकि यहां से जाने के बाद अपने घरों में सिलाई का कार्य कर सकेंगी। उन्होंने महिला अधिकारिता विभाग के अधिकारियों से कहा कि इन महिलाओं को यहां से जाने के बाद ऋण उपलब्ध करवा देंवे। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव मधु हिसारियां ने कहा कि जो गलती हो गई उसको भुलाकर आगे उसे सुधारा जाएं। उसके साथ कैदी महिला के गौद में खेल रहे बच्चे को देखते हुए कहा कि इसे संस्कारवान और अच्छा नागरिक बनाने की हिदायत दी।

जिला कारागृह उपाधीक्षक भैरों सिंह राठौड़ ने कैदी महिलाओं को कहा कि जेल में सभी प्रकार की सुविधाए मुहईया करवाई गई है। काम सिखने के लिए सिलाई मशीन एवं ब्यूटी पार्लर चैयर तथा सभी प्रकार का सामान महिला अधिकारिता विभाग द्वारा दिया गया है, मन लगाकर ट्रेनर से कार्य को सीखे और करें। उन्होंने कहा कि देश की महिलाएं आत्म निर्भर बन रही हैं। उसी तरह आप भी यहां सिलाई का कार्य करकर आत्मनिर्भर एवं स्वावलम्बी बन सकती है।

उल्लेखनीय है कि राठौड़ ने मांग की थी कि महिलाओं को काम सीखने के संबंध में यहां सिलाई मशीन एवं अन्य प्रकार की व्यवस्था की जाएं। उसी को देखते हुए जेल में विभाग द्वारा दो सिलाई मशीन, एक ब्यूटी चैयर एवं ब्यूटी से संबंधित सभी प्रकार का सामान, कैदी महिला के बच्चों के लिए खिलौने दिए गए है। सिलाई एवं ब्यूटी पार्लर का काम सिखाने के लिए विभाग द्वारा दो ट्रेनर दिए गए हैं। जो यहां इन सभी महिलाओं को काम सिखाएंगे। इस अवसर पर जीवन आश्रम संस्था जयपुर से आई टीम की अमृता, दिव्या ने महिलाओं को मेहनत और मन लगाकर सिलाई का कार्य करने के लिए प्रेरित किया। कारागृह में महिलाओ के लिए बनाएं गए सिलाई एवं ब्यूटी पार्लर सेंटर का जिला पुलिस अधीक्षक मनीष त्रिपाठी एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव मधु हिसारियां ने फीता काटकर किया शुभारम्भ किया।

जिला पुलिस अधीक्षक मनीष त्रिपाठी एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव मधु हिसारियां ने जेल की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। जेल की भोजन शाला में बने खाने को देखते हुए कहा कि सब्जी में तेल की मात्रा कम रखने, जेल में कैमरे लगवाने, कैदियों की सुविधाओ का ध्यान रखने को कहा।