जहाजपुर / देश पहले, धर्म व समाज बाद मेंः आचार्य ज्ञान सागर महाराज

Jahazpur News ( आजाद नेब ) । स्वस्ति धाम में चल रहे आठ दिवसीय पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव एवं विश्व शांति महायज्ञ मे आचार्य ज्ञान सागर महाराज ने कहा कि धर्म व समाज के नाम पर लोगों को बांटकर देश से खिलवाड़ करने वालों से सावधान रहने की जरूरत है। जीवन में सदैव देश को पहले रखे फिर समाज व धर्म को स्थान दे। अगर देश ही नहीं बचेगा तो कैसा समाज और कैसा धर्म। महाराजश्री ने कहा कि आज हर परिवार में बुजुर्गो को चाहिए कि वो संतानों को संस्कार दे।

 

जिस परिवार में सास अपनी बहू को अपनी बेटी जैसा प्यार देती है और जो बहू अपनी सास को मां का दर्जा देकर सेवा करती है वो बहू कभी बीमार नहीं पड़ती। परिवार में भी खुशहाली रहती है ओर बच्चों मे संस्कार जागते है। आर्यिका स्वस्तिभूषण माताजी ने भी संबोधित किया।

मोक्षकल्याणक आज, मंदिर में विराजमान होगे भगवान
अध्यक्ष विनोद जैन टोरड़ी ने बताया कि जिनबिंब पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव एवं विश्वशांति महायज्ञ का शुक्रवार को समापन होगा। सुबह से रात तक धार्मिक आयोजन होंगे। सुबह साढ़े नौ बजे नवीन वेदियों में बिंब स्थापना विधि का शुभारंभ यंत्र स्थापना, शांति हवन, बिंब स्थापनम, कलशारोहण, ध्वजारोहण, नवीन जिनालय में हवन आदि कार्यक्रम होंगें। जहाजपुर में एक मकान की नींव खुदाई के दौरान जो प्रतिमा निकली है उसे भी नवनिर्मित मंदिर में विराजमान किया जाएगा।

सुबह से रात तक बही भक्ति की बयार

आयोजन समिति के अध्यक्ष विनोद जैन टोरड़ी ने बताया कि ज्ञान कल्याणक संस्कार महोत्सव के तहत सुबह मूलनायक अभिषेक एवं शांतिधारा, जाप अनुष्ठान, मंत्राराधना, केवल ज्ञानोत्पत्ति, गुरूभक्ति, मंगल आरती व शास्त्र सभा का आयोजन हुआ