dainik reporters
जयपुर राजस्थान

जयपुर रेजीडेंट और सेवारत चिकित्सकों की हड़ताल 

जयपुर
नेशनल मेडिकल कमीशन बिल (एनएमसी) के विरोध में रेजीडेंट और सेवारत चिकित्सक के हड़ताल पर जाने के कारण प्रदेशभर के राजकीय चिकित्सालयों में गुरुवार को चिकित्सा व्यवस्था प्रभावित रही। प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल सवाई मानसिंह चिकित्सालय के अलावा प्रदेश के अधिकांश सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) और प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र (पीएचसी) में डॉक्टरों की अनुपस्थिति के कारण मरीज परेशान रहे। मरीजों की ये परेशानी अब शुक्रवार को ही दूर होगी जब सभी डॉक्टर सुबह काम पर लौट आएंगे।
एसएमएस मेडिकल कॉलेज से जुड़े एसएमएस, जनाना, सांगानेरी गेट महिला चिकित्सालय, जेके लोन, गणगौरी बाजार स्थित चिकित्सालय में ओपीडी के अलावा आपातकालीन इकाइयां भी प्रभावित रही, जिसके कारण मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ा। हालांकि इन अस्पतालों में ओपीडी की कमान पूरी तरह सीनियर रेजीडेंट्, असिस्टेंट प्रोफेसर व प्राचार्य स्तर के डॉक्टरों के कंधों पर रही।  हड़ताल का ये असर ओपीडी के अलावा इंडोर पेशेंट यूनिट (आईपीडी) पर भी देखने को मिला। रेजीडेंट की हड़ताल के चलते अकेले एसएमएस में ही करीब 150 से अधिक छोटे व सामान्य ऑपरेशन टल गए।
इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की ओर से लोकसभा में पेश किए एनएमसी बिल,2019 का विरोध किया जा रहा है। इसी बिल के विरोध में ये हड़ताल देशभर में रही। विरोध कर रहे डॉक्टरों की एसोसिएशन ने बिल में बदलाव करने की मांग की है।
Reporters Dainik Reporters
[email protected], Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *