जयपुर

योग भारतीय संस्कृति का अभिन्न अंग -विधानसभा अध्यक्ष

अन्तरर्राष्ट्रीय योग दिवस
विधानसभा में योग
 
जयपुर, । विधानसभा अध्यक्ष  कैलाश मेघवाल ने कहा है कि योग भारतीय संस्कृति का अभिन्न अंग है । भारत ने विश्व‍ को योग की विद्या प्रदान की है । योग आध्यात्मिक सेहत एवं शारीरिक तंदुरूस्ती के लिए सरल साधन है।
मेघवाल आज यहॉं विधानसभा में अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर स्वास्‍थ्‍य कल्याण योग नेचुरोपैथी एण्ड फिजियोथैरेपी सेंटर द्वारा आयोजित योग शिविर में मुख्य‍ अतिथि के रूप में बोल रहे थे । इससे पूर्व  मेघवाल ने दीप प्रज्वलित कर योग शिविर का विधिवत शुभारंभ किया ।


कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए राजस्थान अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष सुन्दर लाल ने कहा कि योग जीवन जीने की कला है ।
समारोह में विधायक  घनश्याम तिवाडी ने कहा कि राजस्थान का योग कार्यक्रम सर्वप्रथम विधानसभा में ही आयोजित किया गया था। उन्हों ने योग के इतिहास के बारे में बताते हुए कहा कि गुरू गोरखनाथ योग के प्रथम गुरू हैं। अलग अलग स्तरों पर जन सामान्य इसका अभ्यास कर सकते हैं फिर चाहे उनकी क्षमता, उम्र या योग्यता कितनी भी हो ।
स्वास्‍थ्‍य कल्याण योग नेचुरोपैथी एण्ड फिजियोथैरेपी सेंटर के प्राचार्य डा. अंकेश सिंह ने विधानसभा के अधिकारियो और कर्मचारियों को ताडासन, अधकरीचक्रासन, वज्रासन, गोमुखासन वक्रासन एवं भस्त्रिका, कपालभाति, भ्रामरी एवं अनुलोम-विलोम प्राणायाम का अभ्यास करवाया।

करंट लगने से दो भाई झूलसे, एक भाई की मौत

प्रारम्भ में स्वास्‍थ्‍य कल्याण योग नेचुरोपैथी एण्ड फिजियोथैरेपी सेंटर के निदेशक डा. एस.एस. अग्रवाल ने योग की भूमिका पर प्रकाश डालते हुए कहा कि योग से शरीर के समस्त अंगों को ऊर्जा मिलती है । योग फिटनेस की चाबी है । अंत में विधानसभा सचिव  दिनेश कुमार जैन ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया । कार्यक्रम का संचालन दुर्गादास मूलचन्‍दानी ने किया ।

 

liyaquat Ali
Sub Editor @dainikreporters.com, Provide you real and authentic fact news at Dainik Reporter.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *