सालों का इंतजार हुआ खत्म, गायत्री को नागरिकता मिली तो छलके खुशी के आंसू

Years of waiting ended, Gayatri got citizenship, tears of joy
जयपुर । जयपुर जिला कलक्ट्रेट में सोमवार को 49 वर्षीय गायत्री की आंखें उस वक्त छलक आईं, जब कई सालों के इंतजार के बाद उन्हें भारतीय नागरिकता का प्रमाण पत्र प्राप्त हुआ। अतिरिक्त जिला कलक्टर (दक्षिण)  मोहम्मद अबूबक्र ने 9 पाक विस्थापितों को नागरिकता प्रमाण-पत्र सौंपे।
 
गायत्री के साथ ही 36 वर्षीय दर्शन लाल, 43 वर्षीय नसीबन, 66 वर्षीय वाटूमल, 59 वर्षीय डॉ. अशोक कुमार, 48 वर्षीय कन्हैयालाल, 40 वर्षीय जेवरलाल, 34 वर्षीय संगीता बाई और 40 वर्षीय ज्ञानचंद को भी भारतीय नागरिकता प्रमाण-पत्र की सौगात मिली। 
 
नागरिकता प्रमाण-पत्र मिलने के बाद डॉ. अशोक कुमार ने जिला प्रशासन का आभार जताते हुए कहा कि आज कई सालों का लंबा इंतजार खत्म हुआ है और आज हम फक्र के साथ कह सकते हैं कि हम भारतीय हैं। वहीं, दिहाड़ी मजदूरी कर अपने परिवार का पालन पोषण करने वाले कन्हैयालाल ने कहा कि घर की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है।
 
नागरिकता का प्रमाण नहीं होने के कारण सरकारी योजनाओं का लाभ भी उन्हें नहीं मिल पा रहा था लेकिन अब भारतीय नागरिकता मिलने के बाद ना केवल उन्हें पहचान मिली है बल्कि अब सरकारी योजनाओं की मदद से वे अपने परिवार का भरण पोषण बेहतर तरीके से कर पाएंगे।
 
इस मौके पर अतिरिक्त जिला कलक्टर (दक्षिण) श्री मोहम्मद अबूबक्र ने भारतीय नागरिकता हासिल करने वाले सभी पाक विस्थापितों को शुभकामनाएं दीं और कहा कि जिला प्रशासन नागरिकता के आवेदनों पर प्राथमिकता से नियमानुसार कार्यवाही कर प्रमाण-पत्र जारी करता है ताकि आवेदक किसी भी परेषानी का सामना ना करना पड़े।