सत्रह और जिलों में बीसी सखी बन निशुल्क बैंकिंग सेवाएं देंगी राजीविका एसएचजी से जुड़ी महिलाएं

Women associated with Rajivika SHG will provide free banking services by becoming BC Sakhi in seventeen more districts
जयपुर। राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद (राजीविका) द्वारा मिशन ‘वन जीपी -वन बीसी‘ प्रोजेक्ट के अंर्तगत राज्य के 17 जिलों में स्वयं सहायता समूहों की प्रशिक्षित एवं आईआईबीएफ सर्टिफाइड महिलाओं को बीसी सखी के रूप में लगाने हेतु इण्डिया पोस्ट पैमेंट बैंक तथा फीनो पैमेंट बैंक के साथ सोमवार को एमओयू किया गया।
 
उल्लेखनीय हैं कि विभिन्न बैंकों के माध्यम से लगायी गयी बीसी सखी संबंधित ग्राम पंचायत में ग्रामीण क्षेत्र के निवासियों तथा स्वयं सहायता समूहों के परिवारों को निःशुल्क बैंकिग सेवाएँ उपलब्ध करवा रही हैं। इससे उन्हें डोर स्टेप बैंकिंग सुविधाओं का लाभ मिल रहा है।
 
साथ ही इन बीसी सखियों की आमदनी का एक अच्छा जरिया बनने से उनका सशक्तिकरण, आत्मनिर्भरता तथा बैंकिंग कौशल में वृद्धि हो रही है। डोर स्टेप बैंकिंग सेवाओं में प्रमुख रूप से बचत खाता खोलना, रकम निकासी रकम जमा करने के साथ-साथ बैंकिंग सेवाओं के अन्य प्रोडेक्टस जैसे बीमा एवं पेंशन योजनाओं में नामांकन की सुविधाएँ उपलब्ध करवाने के साथ पेंशन वितरण, डीबीटी का पैसा निकासी की सुविधा शामिल हैं।
 
        इस अवसर पर राजीविका से परियोजना निदेशक (प्रशासन)  हरदीप सिंह चौपड़ा,  लक्ष्मी कान्त पाराशर, राज्य परियोजना प्रबंधक (डिजिटल फाइनेंस), इण्डिया पोस्ट पेमेंट बैंक से  अपूर्व गुप्ता, एजीएम तथा सर्कल हैड, राजस्थान, श्री विकास कुमार, मुख्य प्रबंधक एवं  अरविन्द कुमार, सीनियर मैनेजर उपस्थित थे तथा फीनो पैमेंट बैंक की तरफ से श्री अमित जैन, बिजनेस एलायंस हैड,  राजेश कच्छावा, एशोसियेट वाईस प्रेसिडेट उपस्थित थे।
 
अब तक 25 जिलों में बीसी सखी के लिए एमओयू-
 
इसके अतिरिक्त 25 नवम्बर 2022 को ‘पे-नियर बाय‘ फिनटेक ऎजेंसी के साथ 8 जिलों में भी बीसी सखी लगाने हेतु एमओयू किया गया था। इस प्रकार अभी तक 25 जिलों में बीसी सखी लगाने के लिए एमओयू किया जा चुका है एवं अतिशीघ्र ही शेष 8 जिलों के लिये एयरटेल पेमेंट बैंक से एमओयू किया जाना है।
 
इसके साथ ही 25 अगस्त 2022 को राज्य स्तरीय महिला समानता दिवस आयोजन कार्यक्रम के अवसर पर 4825 बीसी सखी लगाये जाने हेतु बैंक ऑफ बडौदा, बडौदा राजस्थान क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, राजस्थान मरुधरा ग्रामीण बैंक, आईसीआईसीआई बैंक तथा आईडीएफसी बैंको के साथ भी बीसी सखी लगाये जाने हेतू एमओयू किया जा चुका है।