चूडी बनाने वाली महिला ने दिया एक साथ पांच बच्चो को जनम, एक की मौत

five children

Jaipur news : राजधानी के चांदपोल स्थित जनाना चिकित्सालय में एक महिला (Woman) ने पांच बच्चों (Five children)को जन्म दिया है। शनिवार सुबह महिला का आपरेशन (operation)कर डिलीवरी (Delivery)करवाई गई जिसमें जन्म के कुछ देर बाद ही एक बच्चे ने दम तोड दिया (One child died) तथा अन्य बच्चों का वजन कम होने के कारण उन्हें चिकित्सकों की निगरानी में रखा गया है। इनमें एक बच्चे की हालत बिगडने पर उसे वेंटीलेटर (Ventilator) पर रखा गया है।

जनाना अस्पताल की अधीक्षक लता राजौरिया (Zanana hospital superintendent )ने बताया कि राजधानी के सांगानेर तलाई क्षेत्र की निवासी रुखसाना (Rukhsana )ने एक साथ पांच बच्चो को जन्म दिया, जिसमें एक लडके की जन्म लेते ही मौत हो गई। बच्चों को जन्म देने के बाद प्रसूता स्वस्थ है।

लेकिन बच्चों का जन्म समय से पहले हुआ है, इसलिए उनका वजन कम होने से एक बच्चें को वेंटिलेटर पर रखा हुआ है और तीन बच्चें मशीन पर है। रुखसाना का प्रसव 7 माह में ही हो गया, जिससे सभी बच्चों का वजन 1.2 किलोग्राम से 1.4 किलोग्राम के बीच है। फिलहाल बच्चों की हालत पर चिकित्सक नजर रखे हुए हैं।

प्रसूता जनाना अस्पताल में ही चैकअप करा रही थी और उनकी जांच में पहले ही साफ  हो गया था की उनके पांच बच्चे होने वाले हैं। 25 वर्षीय रुखसाना की ये तीसरी डिलवरी थी। इससे पहले उसका एक बच्चे की जन्म के 12 दिनों बाद  मौत हो गई थी वहीं एक बार उसका गर्भपात हो गया था।

उसकी हालत को देखते हुए एक माह पहले ही उसे अस्पताल में भर्ती कर लिया गया था और उसे तीन दिनों पूर्व ही घर भेजा था। शुक्रवार को चिकित्सकों ने उसे फोन कर वापस बुलाया और उसकी मेडिकल जांच की। उसके बाद आज सुबह उसने बच्चों को जन्म दे दिया।

अस्पताल में प्रसूता की मां ने बताया कि रुखसाना का पति कालू शादीयों में घोडी लेकर जाने का काम करता है और खुद रुखसाना भी चूडी बनाने का कार्य करती थी। कुछ समय पहले वे शास्त्रीनगर स्थिति कब्रिस्तान की जमीन पर रहते थे किन्तु प्रशासन ने सभी को वहां से हटा दिया तो वे परिवार सहित सांगानेर चले गए।

डॉ राजोरिया ने बताया की मल्टीपल प्रेगनेंसी बहुत चुनौतीपूर्ण कार्य होता है क्योंकि इसमें यूट्रस बहुत ज्यादा फैल जाता है और सिकुड़ नहीं पाता है। इसके कारण अधिक रक्तस्त्राव होने का खतरा रहता है, लेकिन अस्पताल के चिकित्सकों की टीम ने बहुत सफलतापूर्वक कार्य किया है जिससे महिला बिल्कुल स्वस्थ्य है।