राजस्थान का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा

Dr. CHETAN THATHERA
3 Min Read

Jaipur News। राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 की मतगणना अब से कुछ घंटे बाद शुरू होगी और कल शाम तक परिणाम सबके सामने होंगे लेकिन इसके बाद और इसी के साथ ही सबके दिल दिमाग में सवाल गुंज रहा है कि भाजपा सत्ता में आती है तो अगला मुख्यमंत्री कौन होगा ?

और अगर कांग्रेस सत्ता में आती है तो क्या अशोक गहलोत फिर मुख्यमंत्री बनेंगे? इन सवाल पर सबके अलग-अलग मत है और राजनीतिज्ञ विशेषज्ञ व राजनीति के चाणक्यो की राय है।

राजनीतिक गणितज्ञ और वर्तमान परिस्थितियों के अनुसार तथा एग्जिट पोल के मुताबिक भाजपा को पूर्ण बहुमत मिलता है तो भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व राजस्थान में इस बार मुख्यमंत्री का चेहरा बदलेगा और एक बार फिर महिला को मुख्यमंत्री बनाया जाएगा।

जयपुर राजघराने की महारानी और सांसद दिया कुमारी के सिर मुख्यमंत्री का सेहरा बधने के आसर ज्यादा है इसके पीछे यह तर्क दिया और माना जा रहा है कि वसुंधरा राजे राजनीति की पक्की खिलाड़ी हो गई है और वह केंद्र नेतृत्व के इशारे पर नहीं चलेगी और केंद्रीय नेतृत्व की राजे से नाराजगी उनके मुख्यमंत्री बनने में रोड़ा है । वहीं केंद्रीय नेतृत्व दिया कुमारी को मुख्यमंत्री बना कर एक संदेश देगा की महिला को मुख्यमंत्री बनाया गया हम महिला के पक्षधर हैं ।

इसके साथ राजपूत समाज जो राजस्थान में राजनीति में बहुत बड़ा रोल अदा करता है राजपूत वोट बैंक भाजपा का माना जाता है और दिया कुमारी राजघराने से है तथा वह केंद्रीय नेतृत्व के ग्रिप में रहेगी गृहमंत्री अमित शाह यही चाहते हैं और वह बाबा बालक नाथ को जीतने पर मुख्यमंत्री बनाने के पक्ष में बिल्कुल नहीं है।

क्योंकि उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी गृह मंत्री अमित शाह के इशारों पर बिल्कुल नहीं नाचते और बाबा बालक नाथ योगी के ही शिष्य हैं और अमित शाह नहीं चाहते कि राजस्थान में बाबा बालक नाथ को जीतने पर मुख्यमंत्री बनाया जाए।

दूसरी और कांग्रेस एग्जिट पोल के अनुसार फिलहाल तो सत्ता में नहीं आ रही है लेकिन परिणाम के बाद अगर कांग्रेस सत्ता में आ जाती है तो यहां पर भी मुख्यमंत्री को लेकर एक बार फिर लड़ाई होगी इस बार पार्टी आलाकमान सोनिया गांधी राहुल गांधी प्रियंका गांधी मुकुल वासनिक और मल्लिकार्जुन खडके मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से राजस्थान में घटे घटनाक्रमों को लेकर नाराज है और वह अब गहलोत को कांग्रेस के सत्ता में आने पर मुख्यमंत्री बनने के मूड में बिल्कुल नहीं है।

ऐसे संकेत उन्होंने कई बार दिए हैं वही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी बार-बार अपने बयानों में आलाकमान के संकेत का प्रतिरोध करते हुए कह चुके हैं वह मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहते लेकिन यह पद उन्हें नहीं छोड़ रहा है । अगर इस तरह की स्थितियां बनती है तो कांग्रेस में एक बार फिर फूटारोली और बगावत के आसार बनेंगे जिसका फायदा भाजपा उठेएगी।

Share This Article
Follow:
चेतन ठठेरा ,94141-11350 पत्रकारिता- सन 1989 से दैनिक नवज्योति - 17 साल तक ब्यूरो चीफ ( भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़) , ई टी राजस्थान, मेवाड टाइम्स ( सम्पादक),, बाजार टाइम्स ( ब्यूरो चीफ), प्रवासी संदेश मुबंई( ब्यूरी चीफ भीलवाड़ा),चीफ एटिडर, नामदेव डाॅट काम एवं कई मैग्जीन तथा प समाचार पत्रो मे खबरे प्रकाशित होती है .चेतन ठठेरा,सी ई ओ, दैनिक रिपोर्टर्स.कॉम