राजस्थान भाजपा में वसुंधरा के बाद कौन होगा बडा नेता

  जयपुर पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को पार्टी का राष्टï्रीय उपाध्यक्ष बनाने के बाद अब चर्चा है कि पार्टी आलाकमान राजस्थान में नई लीडरशिप तैयार करने की रणनीति पर काम कर रहा है। ऐसे में अब भाजपा में वसुंधरा के बाद किसके चेहरे पर भाजपा वापस सत्ता पर काबिज हो जाए, उस चेहरे पर मंथन …

राजस्थान भाजपा में वसुंधरा के बाद कौन होगा बडा नेता Read More »

January 13, 2019 6:05 pm

 

जयपुर
पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को पार्टी का राष्टï्रीय उपाध्यक्ष बनाने के बाद अब चर्चा है कि पार्टी आलाकमान राजस्थान में नई लीडरशिप तैयार करने की रणनीति पर काम कर रहा है। ऐसे में अब भाजपा में वसुंधरा के बाद किसके चेहरे पर भाजपा वापस सत्ता पर काबिज हो जाए, उस चेहरे पर मंथन किया जा रहा है।  राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि 16 वर्षों तक प्रदेश में भाजपा की एकछत्र नेता रही वसुंधरा राजे ने कभी दूसरी पंक्ति के नेता को आगे ही नहीं आने दिया, ऐसे में अब पार्टी आलाकमान के समक्ष दूसरी पंक्ति के नेताओं को आगे लाना बडी चुनौती है।
राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि वसुंधरा राजे को राष्टï्रीय राजनीति में भेजने के बाद आलाकमान एक बार फिर जोधपुर सांसद और केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत पर दांव खेल सकता है। माना जा रहा है कि लोकसभा चुनावों से पहले शेखावत की प्रदेशाध्यक्ष पद पर ताजपोशी की जा सकती है। इसके अलावा गुलाबचंद कटारिया और राजेन्द्र राठौड को भी प्रदेश में भाजपा के चेहरे के रूप में प्रमोट किया जा सकता है। केन्द्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड और विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल को भी प्रमोट कर आगे लाया जा सकता है। हालांकि गजेन्द्र सिंह शेखावत और राज्यवर्धन सिंह को लेकर चर्चा है कि ये दोनों नेता केन्द्रीय नेतृत्व के नजदीक है लेकिन प्रदेश में इनका राजनीतिक केरियर बहुत छोटा है। एकाएक इस प्रकार उन्हें पार्टी का चेहरा बनाए जाने से पार्टी में ही विरोध हो सकता है।
वहीं गुलाबचंद कटारिया और कैलाश मेघवाल दोनों ही भाजपा के वरिष्ठï नेता है लेकिन उम्रदराज होने के कारण पार्टी इन दोनों पर कोई बडा गेम नहीं खेल सकती है। इसके अलावा राजेन्द्र राठौड पर लगे आपराधिक मुकदमे उनको आगे बढने से रोक सकते हैं। राठौड को लेकर पार्टी में धडेबंदी हो सकती है, पहले वसुंधरा राजे की नजदीकियों के चलते उनकी संघ से भी दूरी बन गई थी। ऐसे में संघ भी उनके नाम पर आपत्ती जता सकता है। हालांकि प्रदेश में सभी धडों की एकराय बने ऐसा कोई चेहरा नहीं है लेकिन माना जा रहा है कि जिस मजबूती के साथ राष्टï्रीय अध्यक्ष अमित शाह संगठन को नेतृत्व दे रहे हैं उस आधार पर तो उन्होंने जिस नाम को हरी झण्डी दे दी, वहीं सर्वमान्य हो जाएगा।

Prev Post

भाजपा विधायक दल की बैठक में आज बनेगा नेता प्रतिपक्ष

Next Post

इलाज में लापरवाही पर दुर्लभजी अस्पताल पर 45 लाख रुपए का हर्जाना

Related Post

Latest News

बीसलपुर की लाइन टूटी, 15 दिन बाद भी नही हुई ठीक
Tonk: आवारा श्वान ने 7 लोगों को काटा, अस्पताल गए तो वहां भी नही हुई सार संभाल ,VIDEO 
IAS अतहर और डाॅ. महरीन आज बंधे शादी के बंधन में ,VIDEO

Trending News

कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे खड़गे,8 अक्टूबर को हो सकती घोषणा
राजस्थान के मंत्रियो व कांग्रेस विधायको को चेतावनी
NPS कार्मिक 01 अप्रैल 2022 के पश्चात NPS आहरण की राशि को पुनः 31 दिसंबर 2022 तक एकमुश्त अथवा अधिकतम 4 किस्तों में जमा करानी होगी
चिरंजीवी योजना में सहायता के लिए फोन 01482-232643 पर करे घंटी 2 घंटे में समाधान

Top News

बीसलपुर की लाइन टूटी, 15 दिन बाद भी नही हुई ठीक
Tonk: आवारा श्वान ने 7 लोगों को काटा, अस्पताल गए तो वहां भी नही हुई सार संभाल ,VIDEO 
IAS अतहर और डाॅ. महरीन आज बंधे शादी के बंधन में ,VIDEO
राजस्थान के सरकारी स्कूलों में मूल निवास प्रमाण पत्र बनवाने की जिम्मेदारी संस्था प्रधान की
पूर्व मंत्री और NCP नेता भुजबल का दुबई कनेक्शन का आरोप, FIR दर्ज
नामदेव छीपा समाज के त्रिदिवसीय गरबा महोत्सव झंकार का समापन, महिला मण्डल की कार्यकारिणी का शपथ ग्रहण
माफी तो मांगी,लेकिन वायरल पन्ना बता रहा है कि सचिन पायलट और प्रभारी अजय माकन निशाने पर थे
PFI का सपोर्ट करने पर पाक सरकार का ट्विटर अकाउंट पर प्रतिबंध
कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव के बाद अब सलमान खान के डुप्लीकेट संजय की जिम में एक्सरसाइज के दौरान मौत
कोतवाली पुलिस कहिन रिपोर्ट दर्ज होने के बाद बता दिया जाएगा, बुजुर्ग महिला से लूट का प्रयास विफल ,लोगों ने युवक को पकड़ा ,VIDEO