चाचा-भतीजे पर पलटा खौलते डामर से भरा डंपर

 

जयपुर। शहर की चौपाटी पर बीती देर रात खौलते डामर से भरा डंपर दर्शनार्थी चाचा-भतीजे पर पलट गया। दोनों गर्म डामर के नीचे दबने से बुरी तरह झुलस गए। हादसे में दोनों की मौत हो गई। हादसे में पास ही खड़े परिवार के अन्य सदस्य बाल-बाल बच गए। मृतक बजोड़ जिला भावनगर गुजरात निवासी नीतेश (35) और उनका भतीजा यश (12) हैं। दोनों परिवार सहित श्रीनाथजी के दर्शनों के लिए नाथद्वारा आए थे। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि डंपर चौपाटी और आसपास के बाजार में पेचवर्क के लिए डामर ला रहा था। इस दौरान डंपर के ड्राइवर साइड के पीछे वाला पहिया पांच फीट तक बरसाती नाले में धंस गया। कुछ देर में डामर सड़क किनारे ठेले पर आइसक्रीम खा रहे काका-भतीजे पर गिर गया। इस कारण दोनों संभल तक नहीं पाए। डामर ज्यादा गिरने से यश डामर में पूरा दब गया। व्यापारियों ने दोनों को बाहर निकालकर 108 एंबुलेंस से शहर के अस्पताल में पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने इन्हें मृत घोषित कर दिया। हादसे के आधा घंटा बाद पहुंची नगरपालिका की जेसीबी मशीन और क्रेन से डंपर को करीब एक घंटे बाद हटा दिया। नाथद्वारा, खमनोर थानों और पुलिस लाइन राजसमंद से अतिरिक्त जाप्ता मौके पर पहुंचा। एसडीएम निशा अग्रवाल, डिप्टी कानसिंह भाटी भी मौके पर पहुंचे। और लोगों के दबने की आशंका में अधिकारियों की मौजूदगी में डामर हटाने का काम देर रात तक चला।