जयपुर

जयपुर मैं पहुंचा पारा 44 के करीब भीषण गर्मी से लोग हुए बेहाल

जयपुर। जेठ मास के पहले दिन ही भीषण गर्मी का आभास होता रहा है। भीषण गर्मी  के कारण सड़क आग की भट्टी की तरह तपने लगी है। पूरे दिन गर्मी हवाएं लोगों को झुलसाती रही। राजधानी जयपुर में जानलेवा गर्मी  के कारण लोगों को दिनभर घरों में कैद रहने को विवश किया। मंगलवार को लोग घरों में एसी- कूलर के आगे बैठकर गर्मी के असर को कम करते रहे। वहीं कामकाजी लोगों को दिनभर गर्मी सितम ढहाती रही। सरकारी दफ्तरों में गर्मी  के कारण कर्मचारी का काम में मन नहीं लगा। आॅफिसों में कुल्फी और ज्यूस का दौर भी चलता दिखा।

प्रदेश के अधिकांश इलाकों में आग उगल रही धूप से आम जनमानस बेहाल रहा। अधिकांश शहरों में दिन का अधिकतम तापमान 42 से44 डिग्री सेल्सियस रहा। आसमान से बरस रही आग से बिजली के पंखे एवं कूलर भी फेल हो गए हैं। दोपहर बाद सड़कों पर सन्नाटा दिखाई दिया।

बाड़मेर, श्री गंगानगर, बाड़मेर जैसे इलाकों में दिन चढने  के साथ ही धूप का असर भी बढ़ता गया। दोपहर बाद चहुंओर बरस रही आग से बचने को लोग घरों में कैद हो गए। पूरे दिन पुरवा हवाएं चलीं। इससे गर्मी और तपन से लोग बेहाल रहे। वहीं उदयपुर में भी गर्मी  का कहर दिखा। सबसे ज्यादा तापमान रिकार्ड  तोड बुंदी में रहा जहां एक बार फिर पारा 47 को छू गया। गर्मी बढने के  कारण लोगों को दिन में घरों से बाहर निकलने में चक्कर आने लगे तो शीतल पेय ज्यूस भी गले को तर नहीं कर पाए।

बिजली भी देती रही धोखा: जयपुरए अजमेर,अलवर सहित अन्य इलाकों में धुलभरी आंधी चलने के बाद बिजली की आंख मिचौली बढ़ गई है। इन दिनों भीषण गर्मी  के बीच बिजली रुला रही है। बिजली की अघोषित कटौति लोगों को गर्मी में पसीने -पसीने कर रही है। कई जगहों पर बिजली के न रहने पर सबसे अधिक परेशानी अस्पताल में गर्मी मरीजों को हो रही है। बिजली चली जाने से शहर के लोगों के साथ ही अस्पताल के मरीज गर्मी  से तड़प उठे।

यह रहा तापमान:  चूरू : 45 डिग्री सेलसियस,बुंदी: 46.5,बीकानेर:46, जैसलमेर : 46,जोधपुर 44,सवाईमाधोपुर :45,कोटा  45,चितौडगढ़़ : 44,श्री गंगानगर : 44,भरतपुर44,बाड़मेर46,सीकर 43, जयपुर44, भीलवाड़ा 43, उदयपुर 43,अलवर 42, सिरोही36 आदि रहा है

Sameer Ur Rehman
Editor - Dainik Reporters http://www.dainikreporters.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *