SOG की ADSP दिव्या मित्तल को ACB ने 2 करोड़ रिश्वत मामले में किया गिरफ्तार, दलाल फरार

जयपुर/ भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की जयपुर टीम ने आज अजमेर में एसओजी मैं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दिव्या मित्तल पर दो करोड़ रुपए की घूस मांगने के मामले मे अभी गिरफ्तार कर लिया है ।इसके साथ ही दलाल बर्खास्त सिपाही को भी गिरफ्तार कर लिया है।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अतिरिक्त महानिदेशक हेमंत प्रियदर्शी ने बताया कि भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की विशेष अनुसंधान इकाई जयपुर को एक परिवादी ने शिकायत दी कि उसके विरुद्ध मादक पदार्थ की तस्करी के मामले में एसओजी में दर्ज प्रकरण में गिरफ्तार नहीं करने एवं मदद करने की

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पर 2 करोड़ घूस का आरोप, ट्रेप फेल,ACB ने वारंट से Adsp के 5 ठिकानों पर सर्च 

 एवज में अनुसंधान अधिकारी एसओजी की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती दिव्या मित्तल अजमेर द्वारा उसके दलाल सुमित कुमार बर्खास्त पुलिसकर्मी के माध्यम से स्वयं एवं उच्च अधिकारियों के नाम पर ₹20000000 की रिश्वत की मांग कर परेशान किया जा रहा है।

Divya mittal Additional Superintendent of Police accused of 2 crore bribe, trap failed, ACB searched 5 locations of Adsp with warrant

इस शिकायत पर एसीबी की विशेष अनुसंधान इकाई द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भजन सिंह शेखावत के निर्देशन में सत्यापन किया गया सत्यापन के दौरान आरोपी दिव्या मित्तल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जी अजमेर के दलाल सुमित कुमार द्वारा दो करोड़ की रिश्वत की मांग सत्यापित हुई सत्यापन वार्ता में आरोपियों द्वारा परिवादी के 10000000 रुपए फिर ₹50 की मांग पर सहमति जाहिर की गई।

आरोपी रिश्वत के रूप में 2500000 रुपए परिवादी की बहन की शादी के बाद लेने पर राजी हुए इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दिव्या मित्तल और उसके दलाल बर्खास्त सिपाही सुमित को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की कार्रवाई की भनक लग जाने पर रिश्वत राशि नहीं ली।

हेमंत प्रियदर्शी ने बताया कि इस पर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो द्वारा मामले में प्रकरण दर्ज कर न्यायालय से वारंट प्राप्त कर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की 5 टीमों ने एसओजी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दिव्या मित्तल के c204 ए आर जी सिटी अजमेर को गिरफ्तार किया तथा दलाल सुमित कुमार पुत्र श्री रामनिवास निवासी कुकलोथ तहसील चिड़ावा जिला झुंझुनू फरार हो गया।

जिसकी तलाश की जा रही है आरोपी दलाल द्वारा परिवादी से रिश्वत मांगने के लिए चालाकी से इंटरनेट कॉल का ही उपयोग किया गया लेकिन एसीबी की टीम द्वारा शिकायत का विधि सम्मत सत्यापन किया गया ।

टीम ने आज एसओजी की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दिव्या मित्तल के अजमेर उदयपुर झुंझुनू और जयपुर के ठिकानों पर सर्च की उदयपुर में मित्तल का एक रिसोर्ट में फार्म हाउस है तथा अजमेर में जयपुर रोड पर स्थित एआरसी सोसाइटी में डीडीए के फ्लैट है जहां दिव्या मित्तल की मौजूदगी में ही सर्च की कार्यवाही की गई।

उधर दूसरी ओर एसओजी की अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक दिव्या मित्तल ने भ्रष्टाचार के आरोपों को नकारते हुए उन्हें साजिश के तहत फंसाने की बात कही है विदित है कि दिव्या मित्तल ने 2021 में कार्रवाई करते हुए।

कुल 16 करोड रुपए की नशीली दवाइयां पकड़ी थी इनमें से जयपुर में 5.50 करोड़ की और अजमेर में 11 करोड़ की नशीली दवाइयां पकड़ी थी ।

फिलहाल भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की सर्च अभियान जारी है और अभियान पूर्ण होने के बाद ही वास्तविकता और सही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।