सावधान : राजस्थान में 4 माह बाद आए कोरोना पॉजिटिव  फिर रिकॉर्ड स्तर पर

corona positive
File Photo

Jaipur। राजस्थान (Rajasthan) में कोरोना वायरस (Corona virus) का संक्रमण (Infection) चार महीने बाद दोबारा रिकॉर्ड स्तर (Record level) तक पहुंच गया है। राजस्थान में कोरोना के आंकड़े चार महीने के सर्वाधिक स्तर पर हैं। राजस्थान में बुधवार को 2801 नए मरीज मिले हैं, वहीं संक्रमण के कारण 12 लोगों की मौत हो गई।

राजस्थान में बुधवार को नए मरीजों की संख्या में हुई बढ़ोतरी के कारण अब सक्रिय केस भी बढ़कर 18146 के आंकड़े पर पहुंच चुके हैं। जयपुर में नए मरीजों की संख्या 500, उदयपुर में 400 तो जोधपुर में 300 पार हो चुकी है। आठ जिले कोरोना की भयावह स्थिति से गुजर रहे हैं। ना संक्रमण दर किसी तरह कम हो रही है और ना ही रिकवरी रेट बढ़ रही है और ना संक्रमण से होने वाली मौतें थम रही हैं।

महामारी के लिहाज से अप्रैल का महीना भयावह होता जा रहा है। आम लोगों की बाजारों में बिना मास्क (Masks) भीड़ बता रही है कि वे अब इस महामारी को लेकर गंभीर और सतर्क नहीं हैं। महामारी की शुरुआत के बाद राज्य में पहली बार 11 नवंबर को पहली बार नए मरीजों की संख्या दो हजार के पार पहुंची थी।

तब 11 नवंबर को 2080 नए कोरोना पॉजिटिव मिले थे। इसके बाद से मरीजों का आंकड़ा लगातार रिकॉर्ड स्तर पर रहा और 10 दिनों में ही यह संख्या 3 हजार पार कर गई। 21 नवंबर को राज्य में पहली बार रिकॉर्ड 3007 नए मरीज मिले थे। अब नए कोरोना पॉजिटिव की संख्या फिर से उसी रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने जा रही है।

राज्य के आठ जिलों में कोरोना संक्रमण हाई रिस्क पर है। जयपुर, उदयपुर, जोधपुर, कोटा, राजसमंद, भीलवाड़ा, डूंगरपुर, अजमेर में मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है, लेकिन इन जिलों में नाइट कर्फ्यू के अलावा सरकार व प्रशासन धरातल पर कोई ठोस निर्णय नहीं कर पाया है।

सरकार ने 22 मार्च से जयपुर (Jaipur) सहित 8 शहरों में नाइट कर्फ्यू (Night curfew) लगाया था, लेकिन यह भी बेअसर होता हुआ दिख रहा है। नाइट कर्फ्यू के बाद से अब तक राज्य में मिले मरीजों में 65 फीसदी इन्हीं 8 शहरों से हैं।

स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक 23 मार्च से अब तक राजस्थान में कोरोना के 17,484 मरीज मिले हैं। इनमें से 11,442 केस उन 8 शहरों में सामने आए हैं, जहां नाइट कर्फ्यू लगा हुआ है।

इनमें सबसे ज्यादा 2,997 केस जयपुर तो सबसे कम 670 केस भीलवाड़ा में मिले हैं। कोरोना केसेज के अलावा इन्हीं 8 शहरों में सबसे ज्यादा मौत हुई हैं। पूरे राज्य के 33 जिलों में पिछले 15 दिन में कोरोना से 47 लोगों की जान गई है। इसमें 27 मरीज इन 8 शहरों से थे।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार बुधवार को जयपुर से 551, उदयपुर से 410, जोधपुर से 326, भीलवाड़ा से 185, डूंगरपुर से 139, कोटा से 210, अजमेर से 110, राजसमंद से 108,

चित्तौड़गढ़ से 90, बीकानेर से 74, अलवर से 71, बारां से 68, बांसवाड़ा से 56, हनुमानगढ़ से 52, झालावाड़ से 42, पाली से 41, नागौर से 38, सीकर से 36, जालोर से 26, टोंक से 25, धौलपुर से 22, श्रीगंगानगर से 22, बाड़मेर से 21, बूंदी से 19, दौसा से 13, सवाईमाधोपुर से 11, सिरोही से 11, झुंझुनूं से 7, प्रतापगढ़ से 6, भरतपुर से 5, करौली से 4,

चूरू से 1 एवं जैसलमेर से एक नया मरीज मिला है।

प्रदेश में बुधवार को उदयपुर से 4, राजसमंद से 2, कोटा, नागौर, सवाईमाधोपुर, डूंगरपुर, अजमेर और बूंदी जिले में एक-एक संक्रमित की मौत हुई। जयपुर जिले में संक्रमण विकराल रूप में हैं। जिले के 65 इलाकों में संक्रमण फैल गया है।

जयपुर के यह इलाके के हॉट स्पॉट क्षेत्र

एक दिन बाद ही नए मरीजों का आंकड़ा दोबारा 500 पार है। बुधवार को कुल 551 नए कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। जबकि एक दिन पहले मंगलवार को जिले से 413 मरीज मिले थे। सोमवार को 528 नए मरीज मिले थे। बुधवार को 8 इलाकों से मरीजों की संख्या 20 से ज्यादा ही रही है। वैशाली नगर, झोटवाड़ा, मालवीय नगर, मानसरोवर, बनीपार्क, पत्रकार कॉलोनी, प्रतापनगर, सोडाला से सबसे ज्यादा मरीज मिले हैं। यह इलाके जिले के हॉट स्पॉट क्षेत्र हैं।

News Topic : Rajasthan,Corona virus,Infection,Record level,Masks,Night curfew,Jaipur