REET- पेपर ब्रिकी की जांच निदेशालय तक, डीईओ पर गिर सकती गाज

REET - High Court angry, notice issued to Chief Secretary, ACS Home and ACS Shiksha Goyal

जयपुर/ रीट भर्ती (Reet) परीक्षा में धांधली की एसओजी द्वारा लगातार पढ़ते खोली जा रही है इससे शिक्षा विभाग भी कटघरे में आ चुका है और माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के साथ-साथ एसओजी की नजरें अब माध्यमिक शिक्षा निदेशालय पर भी पड़ गई है तथा निदेशालय से जुड़े शिक्षकों और अधिकारियों को भी जांच के दायरे में लिया जा रहा है इस संबंध में एसओजी के सुप्रीमो राठौड़ ने माध्यमिक शिक्षा निदेशालय के निदेशक कानाराम आईएएस से भी चर्चा की है।

रीट भर्ती परीक्षा माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर द्वारा आयोजित की गई थी शिक्षा विभाग की भूमिका भी इसमें कम नहीं रही है आना की माध्यमिक शिक्षा निदेशालय सीधे तौर पर यह परीक्षा आयोजित नहीं की या निदेशालय की भूमिका सीधे तौर पर नहीं थी लेकिन जिला स्तर पर जिला शिक्षा अधिकारी से लेकर प्रभु तक तक ने परीक्षा संचालन में हिस्सा लिया था और इन्हीं सब की भूमिका संदेह के दायरे में है एसओजी ने अपनी जांच में जिला शिक्षा अधिकारी से लेकर प्रबोधक को जांच में शामिल किया है एसओजी ने जयपुर की जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक रविंद्र कुमार से भी पूछताछ की है और ऐसे में उनकी भूमिका संदिग्ध होने पर उन्हें भी निलंबित किया जा सकता है।

अब तक यह हुए निलंबित

शिक्षा विभाग ने शुक्रवार को उदाराम बिश्नोई को सस्पेंड किया था। उदाराम पॉलिटिकल साइंस का लेक्चरर है और सांचोर के राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल कीलड़ा में कार्यरत था। उसे सस्पेंड करके मुख्यालय बीकानेर कर दिया गया है।

इसके अलावा जालोर के भीनमाल में स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल राह के पॉलिटिकल साइंस के लेक्चरर चुन्नीलाल बिश्नोई को भी सस्पेंड कर दिया गया है। चुन्नी लाल 27 नवम्बर से ही अपने कार्य स्थल पर अनुपस्थित है।

पॉलिटिकल साइंस के ही एक अन्य लेक्चरार शैतान सिंह को सस्पेंड किया गया है। शैतान सिंह जालोर के सुराचंद (चितलवाना) के राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल में कार्यरत है। शैतान सिंह भी 27 नवम्बर से स्कूल नहीं आ रहा है।

बाडमेर के धोरीमन्ना के राजकीय उच्च प्राथमिक स्कूल के लेवल वन के टीचर भंवरलाल बिश्नोई को भी सस्पेंड किया गया है। भंवरलाल पर 25 सितम्बर को कूटरचित दस्तावेज से आधार कार्ड और एडमिट कार्ड बनाने का आरोप है। पुलिस उसे गिरफ्तार कर चुकी है।

इसके अलावा जालौर के भीनमाल में धर्माणियों की ढाणी में स्थित सरकारी अपर प्राइमरी स्कूल के प्रबोधक छत्तराराम पुरोहित को भी सस्पेंड किया गया है। वो भी 31 जनवरी से स्कूल से बिना सूचना अनुपस्थित है। एसओजी को उसकी भूमिका पर संदेह है।