राजस्थान में शहरी मतदाताओं का भाजपा-कांग्रेस से मोह भंग, 90 मे से 46 निकायो में सत्ता की चाबी निर्दलीयों के हाथ

Jaipur News। राजस्थान में शहरी क्षेत्र के मतदाताओं का अब भाजपा और कांग्रेस दोनों ही प्रमुख राजनीतिक दलों से मोहभंग होता नजर दिखाइए दे रहा है और हाल ही में संपन्न हुए 20 जिलों के 90 नगरीय निकायों के नतीजों ने यह स्पष्ट कर दिया है जहां 90 निकायों में से 46 निकायों में सत्ता …

राजस्थान में शहरी मतदाताओं का भाजपा-कांग्रेस से मोह भंग, 90 मे से 46 निकायो में सत्ता की चाबी निर्दलीयों के हाथ Read More »

February 1, 2021 5:28 pm

Jaipur News। राजस्थान में शहरी क्षेत्र के मतदाताओं का अब भाजपा और कांग्रेस दोनों ही प्रमुख राजनीतिक दलों से मोहभंग होता नजर दिखाइए दे रहा है और हाल ही में संपन्न हुए 20 जिलों के 90 नगरीय निकायों के नतीजों ने यह स्पष्ट कर दिया है जहां 90 निकायों में से 46 निकायों में सत्ता की चाबी निर्दलीयों के हाथ में मतदाताओं ने सौंपकर भाजपा और कांग्रेस दोनों ही राजनीतिक दलों को सबक देते हुए परदेस में होने वाले चार विधानसभा उपचुनाव के लिए कांग्रेस और भाजपा के रणनीतिकारों को सोचने पर मजबूर कर दिया है ।

निकाय चुनाव के नतीजों में निर्दलीय न केवल बड़ी संख्या में जीत कर आए हैं, बल्कि 90 निकायों में से 46 निकाय ऐसे हैं, जहां निर्दलीय ही तय करेंगे कि किस पार्टी का बोर्ड इन निकायो में बनेगा।

मतलब साफ है कि 50 फीसदी से ज्यादा निकाय ऐसे हैं, जहां सत्ताधारी दल कांग्रेस और भाजपा निर्दलीयों के सहारे है या यूं कहे तो अतिशयोक्ति नही होगी भाजपा-कांग्रेस ईन निकायो मे निरदलीयो की बैसाखियों के सहारे पर है अगर अपने प्रत्याशियों के दम पर भाजपा और कांग्रेस के बोर्ड बने तो कांग्रेस के 90 में से 19 जगह और भाजपा के 24 जगह ही काबिज हो सकेेंगे। इससे पहले जब 12 जिलों के 50 निकायों के नतीजे आए थे तब भी स्थिति कमोबेश यही बनी थी। जनता के वोट से कांग्रेस के प्रत्याशी 15 जगह तो भाजपा केवल पांच जगह ही सिमट गई थी। हालांकि, निर्दलीयों से मिले सहारे के चलते कांग्रेस 15 से 36 पर पहुंची तो वहीं भाजपा 4 से 11 की संख्या पा सकी।

9 निकायों में निर्दलीय ,की सरकार

निकाय चुनाव के नतीजों में 9 निकाय ऐसे रहे हैं, जहां निर्दलीय पूर्ण बहुमत में हैं।

इनमें भादरा, रावतसर, संगरिया, बगड़, चिड़ावा, मुकुंदगढ़, खंडेला, रींगस तथा भिंडर नगर पालिका शामिल है।

37 निकायो मे भाजपा-कांग्रेस निर्दलीयों के सहारे

37 नगर निकाय ऐसे हैं, जहां निर्दलीयों का सहारा लेकर ही दलीय पार्टियां अपना बोर्ड बना सकेंगी। इनमें भीलवाड़ा, सुजानगढ़, नागौर व बूंदी नगर परिषद के साथ गुलाबपुरा, मांडलगढ़, देशनोक, इंदरगढ़, केशोरायपाटन, कापरेन, लाखेरी, छापर, राजलदेसर, पोकरण, सांचौर, भवानीमंडी, पिड़ावा, खेतड़ी, उदयपुरवाटी, कुचामन सिटी, लाडनूं, मेड़ता सिटी, मूंडवा, फालना, सोजत सिटी, फतेहपुर, लक्ष्मणगढ़, लोसल, रामगढ़ शेखावटी, श्रीमाधोपुर, देवली, मालपुरा, कपासन, बिदासर तथा निवाई नगरपालिका शामिल है।

प्रदेश के 90 निकायों में हुए 3035 वार्ड में से 3034 वार्ड के नतीजों में कांग्रेस को 1197 वार्डों में जीत मिली है तो भाजपा को 1140 वार्ड में जीत मिली है। निर्दलीयों को 634 वार्ड में जीत मिली है। इसके अलावा एनसीपी को 46 वार्ड, हनुमान बेनीवाल की पार्टी आरएलपी को 13 और बीएसपी को एक और सीपीआईएम को 3 वार्डों में जीत मिली है।

Prev Post

केन्द्रीय बजट में क्या महंगा क्या सस्ता पढ़े पूरी खबर

Next Post

पायला को गुर्जर गौरव अवॉर्ड

Related Post

Latest News

बजरी ट्रक ऑपरेटरों यूनियन की सोहेला मिर्च मण्डी मे बैठक का आयोजन 
Rajasthan : कांग्रेस विधायक दल की बैठक आज, आलाकमान पर छोड़ा जा सकता है मुख्यमंत्री चयन का फैसला
कांग्रेस में 'एक व्यक्ति एक पद' का सिद्धांत फॉर्मूला, एक दर्जन नेताओं को देना पड़ेगा इस्तीफा

Trending News

भीलवाड़ा में गुटखा व्यापारी का दिनदहाडे अपहरण, 5 करोड़ फिरौती मांगी, 3 हिरासत में 
ब्रश, स्पंज और उंगलियों से लिक्विड फाउंडेशन कैसे लगाएं
आपके जीवन में स्वस्थ कितना जरुरी हैं और आहार क्या है, फायदे और डाइट चार्ट
बोलेरो को ट्रेलर ने मारी टक्कर तीन की मौत दो बच्चों सहित पांच गम्भीर घायल, भीलवाड़ा रैफर

Top News

बजरी ट्रक ऑपरेटरों यूनियन की सोहेला मिर्च मण्डी मे बैठक का आयोजन 
Rajasthan : कांग्रेस विधायक दल की बैठक आज, आलाकमान पर छोड़ा जा सकता है मुख्यमंत्री चयन का फैसला
भीलवाड़ा में गुटखा व्यापारी का दिनदहाडे अपहरण, 5 करोड़ फिरौती मांगी, 3 हिरासत में 
उपराष्ट्रपति कल राजस्थान के बीकानेर दौरे पर
नवरात्रा 26 से, घट स्थापना का मुहूर्त कब-कब और कैसे करें जानें 
PFI को खाड़ी देशों से मदद, Ed ने 120 करोड़ रुपए किए जब्त,PM पर हमले की थी साजिश
अंकिता हत्याकांड - भाजपा के नेता व पूर्व मंत्री के बेटे के रिसोर्ट पर चला बुलडोजर नेता पार्टी से निलंबित 
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन आज से शुरू, 30 सितम्बर है आखिरी तारीख
कांग्रेस में 'एक व्यक्ति एक पद' का सिद्धांत फॉर्मूला, एक दर्जन नेताओं को देना पड़ेगा इस्तीफा
मुख्यमंत्री कौन होगा काउंट डाउन शुरू : सचिन पायलट सहित ये प्रमुख नाम