राजस्थान में कंटेनमेंट जोन में लगेगा लॉकडाउन, नाइट कर्फ्यू के दायरे में पांच नए जिले शामिल

REET- exam can be canceled? Ruckus, Rajasthan bandh announced on 10th
File Photo

Jaipur News। राज्य सरकार ने कोरोना महामारी के संक्रमण के फैलाव को देखते हुए नाइट कर्फ्यू के दायरे में पांच नए जिलों को शामिल कर लिया है। अब कोटा, जयपुर, जोधपुर, बीकानेर, उदयपुर, अजमेर, अलवर, भीलवाड़ा, नागौर, पाली, टोंक, सीकर और श्रीगंगानगर में कोविड 19 के प्रकरणों में अप्रत्याशित वृद्धि और संक्रमण के वर्तमान परिदृश्य को देखते हुए इन जिलों में रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा।

पिज्जा मंगवाना एक महिला को पड़ा भारी,ठग ने ठगे तीस हजार

कोरोना महामारी को देखते हुए गृह विभाग ने रविवार रात को नई गाइड लाइन जारी की जिसमें सबसे अहम यह है कि अब 31 दिसम्बर तक कंटेनमेंट जोन में दोबारा लॉकडाउन लगाने का निर्णय किया गया है। इसके अलावा पांच नए जिलों नागौर, पाली, टोंक, सीकर और गंगानगर में नाइट कर्फ्यू लगाने का निर्णय किया गया है। इससे पहले कोटा, जयपुर, जोधपुर, बीकानेर, उदयपुर, अजमेर, अलवर व भीलवाड़ा में नाइट कर्फ्यू पहले ही लगा दिया गया था।

 

नई गाइडलाइन में दिसम्बर में स्कूल और महाविद्यालय खोले जाने को लेकर कोई निर्णय नहीं हुआ। मतलब 31 दिसम्बर तक विद्यार्थियों के लिए नियमित कक्षा गतिविधियों के लिए सभी विद्यालय-महाविद्यालयए शैक्षणिक और कोचिंग संस्थान आदि बंद रहेंगे। इस दौरान ऑनलाइन डिस्टेंस लर्निंग जारी रहेगी और इसे प्रोत्साहित भी किया जाएगा। विद्यालय में ऑनलाइन अध्यापन अधिकारियों के लिए और अशैक्षणिक व शैक्षणिक स्टॉफ को बुलाया जा सकेगा। सिनेमा हॉल, थिएटर, मल्टीप्लेक्स, मनोरंजन पार्क और समाधि स्थल 31 दिसंबर तक बंद रहेंगे। वहीं सामाजिक, राजनीतिक, खेलकूद, मनोरंजन, शैक्षणिक, धार्मिक आयोजन और समूह में एकत्रीकरण की अनुमति भी नहीं होगी।

राजस्थान सहित 7 राज्यों में फिर बारिश का आसार

नई गाइडलाइन में ऐसे व्यक्ति जो कोविड 19 पॉजिटिव पाए गए हैं, उनके संपर्क में आने वाले सभी लोगों की सूची बनाने और उनकी ट्रैकिंग कर उन्हें 14 दिन के लिए एकांतवास में करने के भी निर्देश दिए गए हैं। पॉजिटिव पाए गए व्यक्ति के संपर्क में आने वाले सभी लोगों में से कम से कम 80 प्रतिशत की 72 घंटे में पहचान की जाएगी। गृह विभाग के आदेशों के अनुसार कंटेनमेंट जोन में 31 दिसंबर तक लॉकडाउन लागू रहेगा।

कोरोना संक्रमण की वजह से प्रभावित हाई रिस्क क्षेत्रों में कंटेनमेंट जोन का बहुत बारीकी से चिन्हिकरण कर वेबसाइट पर नोटिफाई किया जाएगा। इसकी सूची स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के साथ साझा की जाएगी। चिकित्सा विभाग हर दिन सभी पॉजिटिव मामलों की सूची पता एवं मोबाइल विवरण के साथ संबंधित थानाधिकारी के साथ बीट कांस्टेबल द्वारा निगरानी प्रयोजन के लिए साझा करेंगे। बीट कांस्टेबल सकारात्मक मामलों की निगरानी के लिए आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करेगा। वह यह सुनिश्चित करने के लिए कि मरीज घर पर ही रहता है, तीन दिन में कम से कम एक बार रोगी के घर का दौरा करेगा और रोगी के मोबाइल फोन पर आरोग्य सेतु एप डाउनलोड कराएगा।