राजस्थान मे मंत्रीमंडल विस्तार व राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के मध्य दिग्गज किसान नेता पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी नारायण सिंह भी कूदे सचिन पायलट के पक्ष में

Jaipur News/अशफाक कायमखानी।आठ दफा विधायक रहने के अलावा जिला प्रमुख व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रहने वाले दिग्गज किसान नेता चौधरी नारायण सिंह (Chaudhary Narayan Singh) भी राजस्थान की राजनीति में इन दिनों सबकुछ ठीक नहीं चलने के मध्य लिखित प्रैस ब्यान जारी करके प्रदेश मे कांग्रेस की सत्ता लाने मे आम कार्यकर्ताओं की भूमिका बताते …

राजस्थान मे मंत्रीमंडल विस्तार व राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के मध्य दिग्गज किसान नेता पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी नारायण सिंह भी कूदे सचिन पायलट के पक्ष में Read More »

June 22, 2021 11:40 am

Jaipur News/अशफाक कायमखानी।आठ दफा विधायक रहने के अलावा जिला प्रमुख व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रहने वाले दिग्गज किसान नेता चौधरी नारायण सिंह (Chaudhary Narayan Singh) भी राजस्थान की राजनीति में इन दिनों सबकुछ ठीक नहीं चलने के मध्य लिखित प्रैस ब्यान जारी करके प्रदेश मे कांग्रेस की सत्ता लाने मे आम कार्यकर्ताओं की भूमिका बताते हुये उनको राजनीतिक नियुक्तिया देकर भागीदारी देने की वकालत करके हलचल पैदा कर दी है।

राज्य मे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत(Ashok Gehlot) और सचिन पायलट (Sachin Pilot)के खेमों में बंट चुकी कांग्रेस मे दोनो नेताओं की चुप्पी के बावजूद दोनो के समर्थक विधायकों व वरिष्ठ नेताओं द्वारा एक दुसरे खेमे पर तीखे शब्दबाण छोड़ने के जारी सीलसीले मे प्रदेश के पूर्व अध्यक्ष चौधरी नारायण सिंह का सोमवार को बड़ा बयान सामने आया है। नारायाण सिंह ने कहा कि पार्टी को सत्ता में लाने वाले कार्यकर्ताओं को राज्य स्तर और जिला स्तर पर सरकार में जगह दी जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने सरकार लाने मे कडी मेहनत की और पसीना बहाया था। सिंह ने एक बयान में कहा, ‘‘… यह आवश्यक है कि कांग्रेसियों और कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहित करने के लिये राज्य और जिला स्तर पर जगह दी जानी चाहिए। यह कांग्रेस के नेतृत्व की नैतिक जिम्मेदारी है।’’

चौधरी ने कहा कि पार्टी आलाकमान को उन पुराने और निष्ठावान नेताओं की बात सुननी चाहिए, जिन्होंने विपरीत परिस्थितियों में कडी मेहनत की। पूर्व विधायक सिंह ने कहा कि राज्य सरकार को किसानों की यथासंभव मदद करनी चाहिए क्योंकि केन्द्र के किसान विरोधी रवैये के कारण लोग प्रभावित हुए हैं।

पूर्व प्रदेशाध्यक्ष का यह बयान अशोक गहलोत और सचिन पायलट खेमे में चल रही खींचतान के बीच आया है। उल्लेखनीय है कि बसपा से कांग्रेस में आये छह विधायको और 10 निर्दलीय विधायकों के साथ ही सचिन पायलट खेमे के विधायक मंत्रिमंडल विस्तार और राजनैतिक नियुक्तियों की मांग कर रहे है।

कुल मिलाकर यह है कि पीछले साल जून मे कांग्रेस विधायकों के गहलोत व पायलट खेमे मे बंटने के बाद चले राजनीतिक घटनाक्रम के बाद लगातार दोनो खेमो द्वारा एक दुसरे पर तीखे शब्दबाण द्वारा हमले होते आ रहे है। वर्तमान मे मुख्यमंत्री गहलोत व सचिन पायलट की चुप्पी के बावजूद दोनो नेताओं के समर्थक विधायक व नेताओं ने एक दुसरे पर राजनीतिक हमले करना तेज करने से असमंजस के हालात बनते जा रहे है।

इस तरह की राजनीतिक गरमाहट के मध्य दिग्गज कांग्रेस नेता चौधरी नारायण सिंह का ब्यान आना काफी कुछ सोचने पर मजबूर कर देता है।

Prev Post

21 जून सबसे लंबा दिन

Next Post

नाबालिग़ बेटी से गैंगरेप के बाद न्याय नही मिलने से आहत पीड़ित ने आई.जी. कार्यालय में किया आत्मदाह का प्रयास

Related Post

Latest News

गहलोत कल मिलेंगे सोनिया से,राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए कल नहीं भरे जाऐंगे नामांकन, क्यों
देश को 9 माह बाद मिला नया CDS 
राजस्थान में भी CM गहलोत ने राज्य कर्मचारियों को दिवाली की सौगात बढ़ाया डीए खबर पर मोहर

Trending News

प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 
केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को दीपावली का तोहफा बढ़ाया DA, राजस्थान मे भी अब..
राजस्थान में 4 बच्चों की डूबने से मौत
Ban on 8 affiliated organizations including PFI in the country, know

Top News

प्रिंसिपल डाॅ. खटीक पुनः बने जिलाध्यक्ष 
गहलोत कल मिलेंगे सोनिया से,राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए कल नहीं भरे जाऐंगे नामांकन, क्यों
देश को 9 माह बाद मिला नया CDS 
राजस्थान में भी CM गहलोत ने राज्य कर्मचारियों को दिवाली की सौगात बढ़ाया डीए खबर पर मोहर
बच्चियों को कहा मत दो वोट,पाकिस्तान चली जाओ -IAS हरजोत कौर
राजस्थान शिक्षा विभाग- घोटालेबाज बाबू डेढ माह से नही आ रहा ड्यूटी पर लापता, DEO बचा रहे है या... ?
राजस्थान शिक्षा विभाग- लाखों का घोटाला फिर भी अब तक दोषी प्रिंसिपल पर कार्यवाही क्यो ?
केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को दीपावली का तोहफा बढ़ाया DA, राजस्थान मे भी अब..
राजस्थान में 4 बच्चों की डूबने से मौत
Ban on 8 affiliated organizations including PFI in the country, know