राहुल गांधी का बयान: कांग्रेस पार्टी पेशेंस सिखाती है, ‘मैं और सचिन पायलट भी पेशेंस रखकर बैठे हैं’

जयपुर।कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ईडी से हुई लंबी पूछताछ के बाद आज एआईसीसी मुख्यालय में कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं से रूबरू हुए और देश की वर्तमान स्थिति पर भी चर्चा की। इस दौरान राहुल गांधी कुछ ऐसा बोल गए जिसे लेकर सियासी गलियारों में चर्चाओं का दौर शुरू हो चुका है।

दरअसल राहुल गांधी ने ईडी के दौरान हुई पूछताछ का जिक्र करते हुए कहा कि ईडी के अधिकारी मुझसे कहते थे कि मैं इतना पेशेंस के साथ सवालों का जवाब कैसे देता हूं। मैंने उन्हें कहा कि मैं 2004 से कांग्रेस पार्टी मैं काम कर रहा हूं। पेशेंस नहीं आएगा तो क्या आएगा। राहुल गांधी ने कहा कि यह बात कांग्रेस का हर कार्यकर्ता और नेता जानता है, उन्होंने मंच की ओर मुखातिब होते हुए कहा कि सचिन पायलट बैठे हैं यह भी पेशेंस रखे हुए हैं।

मैं भी पेशेंस रखे हुए हूं और यहां बैठा हर नेता पेशेंस रखे हुए हैं। राहुल गांधी ने कहा कि यहां सिद्धारमैया बैठे हैं, रणदीप सिंह सुरजेवाला बैठे हैं। सभी पेशेंस के साथ ही तो बैठे हैं,यह जो हमारी कांग्रेस पार्टी है ये हमें थकने नहीं देती है बल्कि पेशेंस रखना सिखाती है। इससे हमें स्ट्रैंथ मिलती है, ताकि हम लंबी लड़ाई लड़ सके।

इधर सचिन पायलट को लेकर राहुल गांधी के दिए बयान के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं चर्चा है कि भविष्य में सचिन पायलट किसी बड़ी भूमिका में सामने आ सकते हैं। इससे पहले राहुल गांधी ने अग्निपथ योजना का जिक्र करते हुए कहा कि मैंने पहले ही कहा था कि किसान विरोधी कानूनों को सरकार वापस लेगी और अब युवाओं की के खिलाफ इस अग्निपथ स्कीम को भी लेकर कह रहा हूं कि केंद्र की मोदी सरकार इस योजना को वापस लेगी।

राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने इस देश की रीड की हड्डी को तोड़ दिया है जो युवा आर्मी में भर्ती होने के लिए सुबह-सुबह दौड़ लगाते हैं अब यह देश उन्हें रोजगार नहीं दे पाएगा। उन्होंने कहा कि युवाओं के पास अपनी देशभक्ति दिखाने का जो रास्ता था उसे ही इन लोगों ने बंद कर दिया है।राहुल गांधी ने कहा कि इस लड़ाई में हिंदुस्तान का हर युवा का साथ हमें मिलेगा क्योंकि भारत का नौजवान जानता है कि सच्ची देशभक्ति सेना को मजबूत करने से होती है उसे कमजोर करने से नहीं।