समर्थन मूल्य पर खरीद- दलहन-तिलहन खरीद की पंजीयन सीमा को 10 प्रतिशत बढ़ाया

PM crop insurance scheme

जयपुर। सहकारिता मंत्री श्री उदयलाल आंजना ने मंगलवार को बताया कि राज्य में समर्थन मूल्य पर मूंग, उडद, मूंगफली एवं सोयाबीन की खरीद के लिए पंजीयन की सीमा को 10 प्रतिशत बढ़ाया गया है।

उन्होंने बताया कि पंजीयन सीमा को मूंग के 368 खरीद केन्द्रों, मूंगफली के 270, उड़द के 166 तथा सोयाबीन के 83 केन्द्रों पर बढ़ाया गया है।  इस निर्णय से प्रदेश के 41 हजार 271 अतिरिक्त किसानों को लाभ मिलेगा।

श्री आंजना ने बताया कि पंजीयन सीमा बढ़ाने से मूंग के 10 हजार 775 किसान, मूंगफली के 15 हजार 856 किसान, उडद के 2 हजार 158 किसान एवं सोयाबीन के 12 हजार 482 किसान और लाभान्वित होंगे।

समर्थन मूल्य पर चल रही खरीद के लिए 67 हजार 409 किसानों ने मूंग के लिए एवं मूंगफली के लिए 22 हजार 638 किसानों ने पंजीयन कराया है। उन्होंने बताया कि 26 हजार 583 किसानों से 50 हजार 389 मीट्रिक टन मूंग की खरीद की जा चुकी है।

जिसकी राशि  390.77 करोड़ रुपये है तथा मूंगफली की खरीद 638 मीट्रिक टन की जा चुकी है। जिसकी राशि 3.73 करोड़ रुपये है। अब तक 7 हजार 698 किसानों को 118.66 करोड़ रुपये का भुगतान किया जा चुका है तथा शेष किसानों को भुगतान की प्रक्रिया जारी है।      

सहकारिता मंत्री ने बताया कि मूंग के 3.03 लाख मीट्रिक टन, उड़द के 62 हजार 508 मीट्रिक टन, मूंगफली के 4.66 लाख मीट्रिक टन एवं सोयाबीन के 3.62 लाख मीट्रिक टन लक्ष्य स्वीकृत किये गये है। 

आंजना ने बताया कि प्रारंभ में 90 प्रतिशत सीमा तक कृषक पंजीयन व्यवस्था की गयी थी। न्यूनतम समर्थन पर मूल्य दलहन एवं तिलहन खरीद योजना का लाभ अधिकाधिक किसानों को उपलब्ध कराने की दृष्टि से 10 प्रतिशत और पंजीयन बढ़ाने का निर्णय लिया गया है।

इससे स्वीकृत लक्ष्यों के अनुरूप शत-प्रतिशत सीमा तक किसान दलहन-तिलहन विक्रय हेतु पंजीयन करा सकेंगे।